Home / देश / नोवल कोरोना वायरस की रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु जिला प्रशासन के अधिकारियों एवं प्राइवेट डाॅक्टरों की बैठक हुई आयोजित

नोवल कोरोना वायरस की रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु जिला प्रशासन के अधिकारियों एवं प्राइवेट डाॅक्टरों की बैठक हुई आयोजित

 

सागर : विश्व में फैली महामारी नोवल कोरोना वाइरस (कोविड-19) के संक्रमण से रोकथाम एवं नियंत्रण को दृष्टिगत रखते हुए एवं प्रभावी नियंत्रण हेतु कार्यालय स्मार्ट सिटी (प्ब्ब्ब्) में कलेक्टर प्रीति मैथिल नायक की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया। कलेक्टर श्रीमती मैथिल ने निर्देश देते हुए कहा की हम सभी जानते है कि डाॅक्टर को भगवान का रूप माना जाता है और इस महामारी की रोकथाम एवं नियंत्रण में आप सभी डाॅक्टर्स अपनी महत्वपूर्ण भूमिका को निभाये और प्रशासन का सहयोग करें। इस दौरान उपस्थित सभी डाॅक्टर्स को कलेक्टर ने इस महामारी से संबंधित जानकारी के वर्तमान स्टेटस से अवगत कराते हुए कहा की पासपोर्ट डिपार्टमेंट से मिले डेटा के आधार पर बाहर से आये नागरिकों को चेक किया जा रहा है, इसके अलावा जिले में दूर-दराज से गांवो में आये मजदूर, किसान, छोटे कर्मचारी आदि को भी ग्राम पंचायतों के माध्यम से चिन्हित किया जा रहा है।

बैठक में कलेक्टर ने प्राइवेट डाॅक्टर्स को बताया की नोवल कोरोना वाइरस (कोविड-19) के संक्रमण से रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु बीएमसी सागर को कोर सेंटर बनाया गया है। यदि आगे आवश्यकता होगी तो प्राइवेट हाॅस्पिटल की सुविधाओं का उपयोग किया जायेगा। बीएमसी सागर में रोज लगभग 1600 ओपीडी केस आते है, जिन्हे आप सभी के सहयोग से हैंडिल किया जाये। क्योंकि बीएमसी की तात्कालिक सेवाएं नोवल कोरोना वाइरस रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु है। जिन पेशेंटो (गरीब अथवा अमीर) को छोटी-मोटी बीमारी है, उन्हें फोन, व्हाट्सएप के द्वारा इलाज मुहैया करायें ताकि लोगों को इलाज के नाम पर इधर-उधर घूमने से रोका जा सके। केवल सीरियस केस ही हाॅस्पिटल पहुचें, यह डाॅक्टर्स सुनिश्चित करें। इसकी माॅनिटरिंग हेतू डाॅ. नीना गिडियन को नोडल अधिकारी बनाया। रिटायर्ड डाॅक्टर्स एवं मेडीकल स्टाफ से बात करें और उन्हें भी सक्रीय करें।

अपर कलेक्टर सह जिला पंचायत सीईओ इक्षित गढ़पाले ने बताया की अभी भारत नोवल कोरोना वाइरस (कोविड-19) के संक्रमण की सेकेण्ड स्टेज में है। थर्ड स्टेज में और ज्यादा फैलने से रोकने हेतू पूरे भारत में 21 दिन का लाॅकडाउन किया गया है। इस महामारी से रोकथम एवं इलाज के लिए कर्मचारियों को प्रशिक्षित किया जा रहा है, इस हेतू सागरश्री हाॅस्पिटल में वेंटीलेटर कार्यप्रणाली की ट्रेनिंग 20-20 के बैच में कर्मचारियों को दी जाएगी। नोवल कोरोना वाइरस (कोविड-19) कंट्रोल रूम ैंहंत में तीन डाॅक्टरों की टीम उपस्थित रहेगी।

बैठक में भोपाल से आये डाॅ. संतोष जैन अपर-संचालक ने बताया की बचाव ही इस महामारी को रोकने का तरीका है। इस हेतू डाॅ. और उनकी टीमें भी पेशेंट का परीक्षण करने से पहले उसे मास्क पहिनाए, उसे सेनेटाइज करें और परीक्षण करने के बाद भी अच्छे से पेशेंट और अपनेआप को सेनेटाइज करें। इस दौरान उन्होंने सागर के प्राइवेट हाॅस्पिटल की व्यवस्थाओं जैसे- टोटल बेड की संख्या, रेस्पिरेटरी सिस्टम, सीपेप एवं बीपेप, टोटल आईसीयू बेड आदि की जानकारी ली एवं हाॅस्पिटल के आईसीयू एवं मेजर वार्डों में एन्ट्री एवं एग्जिट गेट अलग-अलग करने का निर्देश दिया। निरंतर पेज 2 पर……..

डाॅ. जी.एस. पटेल बीएमसी ने बताया की बीएमसी में टोटल 750 बेड है। हमने नोवल कोरोना वाइरस (कोविड-19)के संक्रमण से रोकथामध्नियंत्रण को दृष्टिगत रखते हुए छः यूनिट बनाई है। इसके अंतर्गत 90 बेड का एक जनरल वार्ड बनाया है एवं अन्य में निमोनिया पेशेंट के लिए अलग बेड, जो कोरोना संक्रमित है उन्हे अलग बार्ड, आईसीयू में 20 बेड लगाए गए है। इसके अलावा एक वार्ड स्टाफ के लिए आइसोलेट किया गया है जहां डाॅक्टर्स, नर्स अन्य कमचारी रहेंगे उनके खाने रहने की व्यवस्था यहीं की गई है ताकि वे घर न जाएं और उनके घर के लोग सुरक्षित रहें धोखे से भी संक्रमण न फैले ।

बैठक में आर.पी. अहिरवार आयुक्त नगरपालिक निगम सागर, राहुल सिंह राजपूत मुख्य कार्यपालन अधिकारी, एसएससीएल, डाॅ. एम एस सागर सीएमएचओ सागर, डाॅ. प्रदीप एस चैहान, डाॅ. संजीव मुखारया, डाॅ. साधना मिश्रा, डाॅ. निधि मिश्रा, डाॅ. अभिषेक जैन, डाॅ. स्मिता दुबे, डाॅ. मोनिका जैन एवं शहर के अन्य डाॅक्टर्स, प्रशासनिक अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित थे।

Loading...

Check Also

कोरोना वॉरियर्स की सेवा में जुटा नागपुर का यह होटल, COVID-19 के खिलाफ जंग लड़ रहे डॉक्टरों के लिए 125 रूम तैयार

कोरोना वायरस का संक्रामण देश में थमने का नाम नहीं ले रहा है। प्रदेश की ...