अमेरिका नेशनल साइंस बी प्रतियोगिता में दिल्ली के 8 साल के बच्चे ने हासिल किया दूसरा स्थान

दिल्ली के आठ वर्षीय बच्चे आडवे मिश्रा ने अमेरिका नेशनल साइंस बी प्रतियोगिता 2021 में दूसरा स्थान अर्जित किया. इस साल के शुरूआत में जॉन हॉपिकिन्स यूनिवर्सिटी ने ने आडवे को Brightest Student of the World के खिताब से भी नवाजा था.

नेशनल साइंस बी व्यक्तिगत छात्रों के लिए बजर आधारित विज्ञान प्रतियोगिता है, जिसमें जीव विज्ञान, रसायन विज्ञान, भौतिकी, पृथ्वी विज्ञान, खगोल विज्ञान, गणित और अन्य वैज्ञानिक क्षेत्रों से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं. इसमें एक लिखित योग्यता परीक्षा और बजर आधारित क्षेत्रीय और राष्ट्रीय चैंपियनशिप शामिल हैं.

अब भूगोल और इतिहास के बी चैंपियनशिप पर है नजर

विज्ञान में अपनी रूची रखने वाले और कमाल के पाठक आडवे अब अगले साल अगस्त में क्यूबेक में होने वाली अंतर्राष्ट्रीय भूगोल बी विश्व चैंपियनशिप और अंतर्राष्ट्रीय इतिहास बी चैंपियनशिप पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं, उन्होंने इसके लिए क्वालीफाई किया है.

2018 में पांच वर्ष की उम्र में अपने माता-पिता के काम काज के कारण अमेरिका गए आडवे अब अब अपने देश भारत लौटेंगे यहां वह अपनी पढ़ाई दिल्ली के एक स्कूल में आगे बढ़ाएंगे.

आडवे ने कहा कि ऑर्गेनिक केमेस्ट्री उनका मनपंसदीदा विषय है, क्योंकि इसमें होने वाले कमपाउंड के रिएक्शन काफी उत्सुक्ता बढ़ाते हैं. इसके अलावा मुझे मिस्ट्री और यथार्थवादी फिक्शन भी पसंद है.

मिश्रा को जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के प्रतिष्ठित सेंटर फॉर टैलेंटेड यूथ (सीटीवाई) में भी भर्ती कराया गया है, जो इसके पूर्व छात्र मार्क जुकरबर्ग, लेडी गागा, Google के संस्थापक, रोड्स स्कॉलर्स और मैकआर्थर फेलो के रूप में गिना जाता है.

दुनिया के 1400 प्रतिभाशाली बच्चों में पाया स्थान

आठ वर्षीय भारतीय मूल के अमरीकी छात्र आडवे मिश्रा ने जॉन्स हॉपकिंस सेंटर फॉर टैलेंटेड यूथ (CTY) के ‘दुनिया के 1400 सबसे प्रतिभाशाली छात्रों’ की सूची में स्थान पाया था. इन 1400 बच्चों में आडवे टॉप-9 फीसदी बच्चों में शामिल थे.

Check Also

लोहे पर जंग किन कारणों की वजह से लगती है? लोहे पर जंग लगने का मुख्य कारण ऑक्सीजन और नमी

Knowledge News: बचपन से ही हम बड़े-बुजुर्गों से एक कहावत जरूर सुनते आए हैं कि काम …