6 महीने बाद डीटीओ ऑफिस में आज से लर्नर लाइसेंस बनना जारी, लॉकडाउन के पहले अप्लाइ करने वाले 200 आवेदकों को बुलाया

 

22 मार्च से रांची समेत राज्य भर में ड्राइविंग लाइसेंस बनाने का काम बंद था। 6 महीने बाद 16 अक्टूबर से फिर से डीएल बनाने का काम शुरू हो गया है।

  • 22 मार्च से रांची सहित राज्य में ड्राइविंग लाइसेंस बनाने का काम है बंद
  • रांची में 6000 एलएल और 2000 परमानेंट डीएल के आवेदन हैं पेंडिंग

रांची समाहरणालय स्थित जिला परिवहन कार्यालय में छह महीने बाद ड्राइविंग लाइसेंस बनाने का काम शुरु हो गया है। शुक्रवार को पहले दिन लॉकडाउन से पूर्व आवेदन करने वाले 200 आवेदकों को दस्तावेज की स्क्रूटनी और फोटोग्राफी के लिए बुलाया गया है। हालांकि, यहां सबसे बड़ी चुनौती सोशल डिस्टेंसिंग की रहेगी। क्योंकि, समाहरणालय के तीसरे फ्लोर स्थित डीटीओ कार्यालय में एक साथ अगर इतने लोग पहुंचेंगे तो भीड़ लगनी तय है। हालांकि विभाग की ओर से कोरोना संक्रमण को देखते हुए खड़े होने के लिए स्टीकर चिपकाया गया है। साथ ही भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिसकर्मियों को भी तैनात किया गया है।

मालूम हो कि 22 मार्च से रांची सहित राज्य भर में ड्राइविंग लाइसेंस बनाने का काम बंद हैं। छह महीने बाद 16 अक्टूबर से फिर से डीएल बनाने का काम शुरू हो गया है। इसमें लॉकडाउन से पूर्व लर्नर लाइसेंस (एलएल) बनाने का आवेदन करने वाले आवेदकों की सूची बनाई गई जिसे विभागीय पोर्टल www.jhtransport.gov.in पर अपलोड कर दिया गया है। सूची में आवेदक के नाम के नाम के साथ उनके आने की तिथि भी अंकित कर दी गई है। जिन आवेदकों का नाम सूची में है उन्हीं के दस्तावेज की स्क्रूटनी होगी और फोटो खिंचा जाएगा।

परमानेंट डीएल के लिए फिर से स्लॉट बुक
रांची जिला में 6000 एलएल व 2000 परमानेंट डीएल के आवेदन पेंडिंग हैं। हालांकि, परमानेंट डीएल के लिए आवेदकों को नए सिरे से स्लॉट बुक करना होगा। मालूम हो कि जिला परिवहन कार्यालय की ओर से एलएल के लिए 100 और परमानेंट डीएल के लिए 150 का स्लॉट निर्धारित किया गया है। जबकि पहले एलएल के लिए 300 और डीएल के लिए 250 स्लॉट निर्धारित था।

महिलाओं के लिए विशेष काउंटर
कोरोनाकाल में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो इसके लिए जिला परिवहन कार्यालय में अब दो की जगह चार काउंटरों पर फोटोग्राफी हो रही है। वहीं, एक काउंटर महिला के लिए विशेष रूप से बनाया गया है। ताकि उन्हें कोई परेशानी न हो।

डीटीओ प्रवीण प्रकाश का कहना है कि सोशल डिस्टेंसिंग की तैयारी पूरी कर ली गई है। स्टीकर चिपकाया गया है। भीड़ के कारण कोई परेशानी न हो इसके लिए पुलिसकर्मी भी उपस्थित रहेंगे।

 

Check Also

13 जिले जल्द हो सकते हैं कोरोना मुक्त, यहां एक्टिव मरीजों की संख्या 100 नीचे; राज्य का रिकवरी रेट राष्ट्रीय औसत से 3 प्रतिशत बेहतर

  92.92 प्रतिशत रिकवरी रेट से 91,629 संक्रमित स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं जबकि …