53 करोड़ फेसबुक यूजर्स का डेटा लीक मामला:फेसबुक के मुखिया जुकरबर्ग का भी डेटा लीक हुआ, उसमें मिले नंबर से इस्तेमाल करते हैं मैसेजिंग ऐप सिग्नल

 

सिक्योरिटी रिसर्चर डेव वॉकर ने खुलासा किया है कि जुकरबर्ग अपने लीक नंबर से सिग्नल ऐप का इस्तेमाल करते हैं, उन्होंने सोशल मीडिया पर लीक हुए नंबर को एक स्क्रीन शॉट के जरिए दिखाया है।

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक के यूजर्स का डेटा लीक होने का मामला सामने आया है। इसमें फेसबुक के मुखिया मार्क जुकरबर्ग का डेटा भी शामिल है। इसमें चौंकाने वाली जानकारियां मिली हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जुकरबर्ग खुद मैसेजिंग ऐप ‘सिग्नल’ का इस्तेमाल करते हैं। जानकारी के अनुसार, 53 करोड़ से ज्यादा फेसबुक यूजर्स का पर्सनल डेटा इस बार लीक हुआ है। इनमें करीबन 60 लाख भारतीय हैं।

डेटा लीट में यूजर की आईडी, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, स्थान, जन्मतिथि और वैवाहिक स्थिति भी शामिल है। सिक्योरिटी रिसर्चर डेव वॉकर ने खुलासा किया है कि जुकरबर्ग अपने लीक नंबर से सिग्नल ऐप का इस्तेमाल करते हैं। उन्होंने सोशल मीडिया पर जुकरबर्ग के लीक हुए नंबर को एक स्क्रीन शॉट के जरिए दिखाया है।

इसमें कहा गया है कि जुकरबर्ग सिग्नल पर भी हैं। रिपोर्ट के अनुसार, ये डेटा 2020 में लीक हुए थे। फेसबुक में एक बग के कारण यूजर्स के मोबाइल नंबर फेसबुक अकाउंट के साथ नजर आ रहे थे। कंपनी ने इस बग को अगस्त 2019 में ठीक किया था।

वॉट्स एप विवाद काफी गहराया
इस साल की शुरुआत में फेसबुक के मालिकाने वाले- वॉट्स ऐप की प्राइवेसी पॉलिसी-2021 के चलते काफी विरोध हुआ है। ऐसे में फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग द्वारा अन्य मैसेजिंग ऐप का इस्तेमाल करना भी काफी विवादित हो सकता है। वॉट्स ऐप की नई प्राइवेसी पॉलिसी का लोगों ने काफी विरोध किया है। इसकी वजह से लाखों यूजर्स दूसरे मैसेजिंग ऐप पर चले गए हैं। वॉट्स ऐप एक तरह से नई प्राइवेसी पॉलिसी को मानने के लिए यूजर्स को बाध्य करती है। ऐसा न होने पर उनके अकाउंट बंद करने की बात कहती है।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

ग्‍वाटेमाला के ज्‍वालामुखी से निकल रहा था लावा, पिज्‍जा बनाने लगा शख्‍स

ग्‍वाटेमाला सिटी :  यह शायद जुनीन ही है कि लैटिन अमेरिकी देश ग्‍वाटेमाला में लावा …