5वीं क्लास की आदिवासी बच्ची की गैंगरेप के बाद हत्या, झाड़ियों में मिली लाश; घर से साइकिल से ट्यूशन के लिए निकली थी

 

घटनास्थल पर परिजन और जुटी भीड़। पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुटी हुई है।

  • दुमका के रामगढ़ थाना क्षेत्र के भाल सुमर पंचायत का है मामला

दुमका जिला के रामगढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत भालसुमर पंचायत के ठाड़ी गांव के बाहर झाड़ी में पांचवी कक्षा में पढ़ने वाली आदिवासी छात्रा की सामूहिक दुष्कर्म के बाद गला घोटकर हत्या कर दी गई। घटना शुक्रवार को दिन के 10 बजे की है। छात्रा ट्यूशन पढ़ने के लिए अपने गांव से धर्मपुर सिंदुरिया गई थी, जहां से साइकिल से वापस लौटने के क्रम में ठाढी काली मंदिर के पास पहले से घात लगाए अपराधियों ने युवती को रोका। उसे जबरन झाड़ी में ले गए और उसके साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद अपराधियों ने बच्ची की गला घोटकर हत्या कर दी। मृतका के गले पर निशान मिले हैं।

इधर, हर दिन की तरह बच्ची अपने घर वापस नहीं लौटी तो उसके पिता उसे खोजने निकले। थोड़ी दूर जाने के बाद ठाढी गांव के काली मंदिर के पास बेटी की साइकिल देख पिता को कुछ शक हुआ तो उन्होंने बच्ची को पुकारना शुरू किया। किसी तरह की आवाज नहीं मिलने पर जब वह पलाश के झाड़ी के अंदर खोजने पहुंचे तो उन्होंने देखा कि अर्धनग्न हालत में बेटी मरी पड़ी थी। मृतका के पिता के द्वारा शोर मचाए जाने के बाद काफी संख्या में आसपास के ग्रामीण वहां इकट्ठा हो गए तथा शव को झाड़ी से निकालकर सड़क पर लाने के बाद पुलिस को सूचना दी जिसके बाद रामगढ़ थाना प्रभारी राजीव प्रकाश पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे एवं छात्रा का शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए दुमका भेज दिया।

शव के बगल में पड़े थे तीन कंडोम
मृतका के शव के पास कंडोम भी फेंका हुआ मिला है। दूसरी ओर नाश्ता का खाली पॉलिथीन तथा गुलेल (एक तरह का देशी हथियार) भी पड़ा हुआ था। लोगों की मानें तो अपराधी बच्ची के आने का इंतजार कर रहे थे। जैसे ही वह काली मंदिर के पास पहुंची, सभी जबरन उसे झाड़ी में ले गए और दुष्कर्म को अंजाम दिया। पुलिस ने घटनास्थल से कंडोम तथा गुलेल को जब्त कर लिया है।

घटना के बाद पुलिस पदाधिकारी पहुंचे थाना
युवती के साथ हुए दुष्कर्म की घटना के बाद अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अनिमेष नैथानी तथा पुलिस इंस्पेक्टर रविन्द्र कुमार ने रामगढ़ थाना पहुंच कर मृतका के पिता से पूरी जानकारी लेने के बाद घटनास्थल का निरीक्षण किया। इस दौरान एसडीपीओ ने युवती के साथ दुष्कर्म के बाद हत्या की पुष्टि करते हुए कहा कि घटना को एक व्यक्ति के द्वारा अंजाम दिया गया है या सामूहिक इसका खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद हो पाएगा। उन्होंने कहा कि जल्द ही अपराधी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

गैंगरेप के बाद हत्या का मामला, पोस्टमार्टम रिपोर्ट से होगी पुष्टि : एसपी
पुलिस अधीक्षक अंबर लकड़ा ने घटना के बाबत बताया कि प्रथम दृष्टया मामला गैंगरेप के बाद बच्ची की हत्या का लग रहा है हालांकि इसकी पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही हो पाएगा। उन्होंने कहा कि दोषियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा अविलंब गिरफ्तारी होगी।

फास्ट ट्रैक कोर्ट के माध्यम से दोषियों को सख्त सजा दी जाए : हेमन्त सोरेन
मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने दुमका में बारह साल की बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या के मामले को गंभीरता से लिया है। मुख्यमंत्री ने पुलिस महानिदेशक को उक्त मामले में संज्ञान लेकर सख्त कार्रवाई करते हुए सूचित करने का निर्देश दिया है। साथ ही सभी जिला प्रशासन एवं जिला पुलिस को ऐसे घृणित मामलों की जाँच कर फास्ट ट्रैक कोर्ट के माध्यम से दोषियों को सख्त से सख्त सजा दिलाने का निर्देश दिया है।

पुलिस मामले का जल्द खुलासा करें : सीता सोरेन
जामा विधानसभा क्षेत्र के झामुमो विधायक और पार्टी की महासचिव सीता सोरेन ने सोशल मीडिया पर कहा है कि दुमका जिले के जामा विधानसभा क्षेत्र की झामुमो विधायक और पार्टी की महासचिव सीता सोरेन ने अपने विधानसभा क्षेत्र रामगढ़ के ठाडी गांव में गैंगरेप और बच्ची की हत्या मामले में झारखंड पुलिस से अविलंब मामले का उद्भेदन करने और दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग की है। संथाल परगना प्रक्षेत्र के डीआईजी सुदर्शन मंडल का नाम लेते हुए कहा कि वह इन घटनाओं को क्या रोकेंगे, वे तो खुद अवैध उत्खनन के धंधों को बढ़ावा देने में व्यस्त हैं। सीता ने उन पर आरोप लगाया है कि उनका काम क्राइम रोकना नहीं बल्कि अवैध उद्योग धंधों को बढ़ावा देना है।

राज्य में चार साल की बच्ची से लेकर साध्वी तक सुरक्षित नहीं: रघुवर दास
दुमका में बच्ची की हत्या मामले में पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास का कहना है कि झारखंड में बच्चियों और महिलाओं के साथ अपराध रुक नहीं रहे हैं। राज्य में दुष्कर्म और बच्चियों की निर्ममता से हत्या की घटनाओं में वृद्धि हो गई है। यह शर्मनाक और भयावह स्थिति है। 4 वर्ष की बच्ची से लेकर साध्वी तक सुरक्षित नही है। राज्य में रोजाना पांच बच्चियों के साथ दुष्कर्म की घटना हो रही है।

 

Check Also

तेज रफ्तार बाइक दीवार से टकराई, दो युवकों की घटनास्थल पर मौत; दोनों ने हेलमेट नहीं पहना था

  पुलिस ने दोनों ही युवकों के शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया है। …