5जी मामले में जूही चावला को जुर्माने में हाई कोर्ट से सशर्त राहत का प्रस्ताव

नई दिल्ली, 25 जनवरी (हि.स.)। दिल्ली हाई कोर्ट की डिवीजन बेंच ने फिल्म अभिनेत्री जूही चावला की 5जी को लांच करने से रोकने की मांग खारिज करते समय सिंगल बेंच के 20 लाख रुपये के जुर्माने की रकम को कम कर दो लाख करने का प्रस्ताव दिया है। जस्टिस विपिन सांघी की अध्यक्षता वाली बेंच ने इसके लिए जूही चावला पर एक शर्त लगाई है कि उन्हें दिल्ली राज्य विधिक सेवा प्राधिकार के लिए कुछ सामाजिक कार्य करना होगा। मामले की अगली सुनवाई 27 जनवरी को होगी।

कोर्ट ने जूही चावला के वकील सलमान खुर्शीद से कहा कि वो सिंगल बेंच की ओर से लगाए गए जुर्माने की रकम को पूरे तरीके से खत्म नहीं करेंगे। कोर्ट इसे दो लाख कर सकती है। चूंकि याचिकाकर्ता एक सेलिब्रिटी हैं, इसलिए उन्हें कुछ सामाजिक कार्य करना होगा। कोर्ट ने कहा कि जब भी दिल्ली राज्य विधिक सेवा प्राधिकार को जरूरत होगी वो जूही चावला से संपर्क कर सकते हैं।

इस पर सलमान खुर्शीद ने जूही चावला से पूछकर कहा कि वे इस कार्य के लिए तैयार हैं। सलमान खुर्शीद ने कहा कि चूंकि याचिका खारिज हुई है इसलिए कोर्ट फीस के रूप में लगी रकम को दिल्ली विधिक सेवा प्राधिकरण को दे दी जाए। तब कोर्ट ने दिल्ली सेवा विधिक प्राधिकरण के सचिव कंवलजीत अरोड़ा को नोटिस जारी कर उनका पक्ष जानना चाहा।

23 दिसंबर 2021 को सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा था कि सिंगल बेंच ने जून में आदेश दिया था और आप दिसंबर में आ रहे हैं। बाद में हाई कोर्ट शीतकालीन अवकाश के बाद सुनवाई को तैयार हो गया। 4 जून को 2021 को जस्टिस जेआर मिधा की सिंगल बेंच ने जूही चावला की याचिका को खारिज करते हुए 20 लाख रुपये का जुर्माना लगाया था। कोर्ट ने कहा था कि याचिकाकर्ता ने उचित कोर्ट फीस जमा नहीं की है। ऐसा करना कानून की स्थापित मान्यताओं के खिलाफ है। कोर्ट ने एक हफ्ते के अंदर कोर्ट फीस जमा करने का निर्देश दिया था। कोर्ट ने कहा था कि याचिका दायर करने के पहले सरकार को नोटिस देना चाहिए था। कोर्ट ने कहा था कि याचिकाकर्ता ने अपनी याचिका के पक्ष में कोई साक्ष्य नहीं दिया है।

याचिका में कहा गया था कि 5 जी उपकरणों से रेडिएशन से लोगों के स्वास्थ्य के खराब होने की आशंका है। याचिका में कहा गया था कि ऐसा कोई अध्ययन नहीं किया गया है जो ये बता सके कि 5जी तकनीक मनुष्य के लिए सुरक्षित है। ऐसे में इस तकनीक को लांच करने से रोका जाए।

Check Also

तेलंगाना: मंत्री केटी रामाराव ₹4,200 करोड़ विदेशी निवेश करवाएंगे

हैदराबाद: तेलंगाना में आईटी एवं उद्योग मंत्री के टी रामाराव की ब्रिटेन और स्विट्जरलैंड में दावोस …