4589 करोड़ रुपये रहा प्रॉफिट ,कोल इंडिया ने जारी किए चौथी तिमाही के नतीजे

नई दिल्ली. विश्व की सबसे बड़ी कोयला खनन कंपनी कोल इंडिया लिमिटेड यानी सीआईएल (Coal India Ltd) ने सोमवार को चौथी तिमाही के नतीजे जारी कर दिए हैं. मार्च 2021 को समाप्त चौथी तिमाही में कंपनी का कंसॉलिडेटेड नेट प्रॉफिट 0.8 फीसदी गिरकर 4,588.96 करोड़ रुपये रहा. कोल इंडिया लिमिटेड ने एक बयान में कहा कि पिछले साल की समान अवधि में कंपनी को 4,655.76 करोड़ रुपये का प्रॉफिट हुआ था.

रेगुलेटरी फाइलिंग में कोल इंडिया लिमिटेड ने कहा कि कंपनी के बोर्ड ने वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए 10 रुपये फेस वैल्यू वाले शेयर पर 3.50 रुपयये प्रति इक्विटी शेयर अंतिम लाभांश को मंजूरी दी है. कंपनी का टोटल रेवेन्यू मार्च तिमाही में 27,974.12 करोड़ रुपये रहा, जबकि एक साल पहले यह 29,820.97 करोड़ रुपये रहा था.

कंपनी का कंसोलिडेटेड सेल्स मार्च तिमाही में गिरकर 29,820.97 करोड़ रुपये रहा जो एक साल पहले की समान अवधि में 25,597.43 करोड़ रुपये रहा था. हालांकि, Q4 में कंपनी के खर्च में कमी आई और यह 21,565.15 करोड़ रुपये रहा जो FY20 के Q4 में 22,373.046 करोड़ रुपये रहा था.

उत्पादन की बात करें तो FY21 के Q4 में कंपनी का कोयला उत्पादन सालाना आधार पर घटकर 203.42 मिलियन टन रहा, जबकि पिछले साल यह 213.71 मिलियन टन रहा था. वहीं, तिमाही आधार पर कोयला उत्पादन बढ़ा है। दिसंबर तिमाही में कंपनी का कोयला उत्पादन 164.89 मिलियन टन रहा था.FY21 में कंपनी का कुल कैपिटल एक्सपेंडिचर 13,115 करोड़ रुपये का रहा, यानी पिछले साल के मुकाबले इसके Capex में 109% की बढ़ोतरी हुई। FY20 में Capex 6270 करोड़ रुपये रहा था. शेयर बाजार में आज कोल इंडिया के शेयर 2.12% गिरकर 159.20 रुपये पर बंद हुए.

Check Also

एयरटेल सीईओ : भारत को दूरसंचार क्षेत्र में तीन निजी कंपनियों की जरूरत, सरकार से समर्थन की उम्मीद

भारती एयरटेल के सीईओ गोपाल विट्टल ने कहा कि भारत जैसे बड़े देश को दूरसंचार …