ITC में करोड़पति कर्मचारियों की संख्या में 44% का इजाफा, जानिए पिछले साल चेयरमैन को कितना मिला वेतन

एफएमसीजी, होटल और कृषि व्यवसाय जैसे कई क्षेत्रों में अग्रणी कंपनी आईटीसी ने पिछले वित्तीय वर्ष के दौरान करोड़पति कर्मचारियों की संख्या में वृद्धि देखी है । कंपनी की सालाना रिपोर्ट के मुताबिक, हाल ही में खत्म हुए वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान आईटीसी के कर्मचारियों की सालाना 1 करोड़ रुपये से ज्यादा कमाई करने वाले कर्मचारियों की संख्या में 44 फीसदी का इजाफा हुआ है । आईटीसी की नवीनतम वार्षिक रिपोर्ट में कहा गया है कि रु। 8.5 लाख या रु. पिछले वित्त वर्ष में 1 करोड़ से अधिक कमाने वाले कर्मचारियों की संख्या बढ़कर 220 हो गई है जबकि 2020-21 में 153 कर्मचारियों को समान वेतन मिल रहा था।

वेतन कितना है?

सालाना रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले वित्त वर्ष में कंपनी के 220 कर्मचारियों को सालाना 1.02 करोड़ रुपये मिले। जो प्रति माह 8.5 लाख रुपये से अधिक है। दूसरी ओर, वित्त वर्ष 22 में, ITC के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, संजीव पुरी ने कुल रु। का भुगतान किया। 12.59 करोड़ जो पिछले वर्ष की तुलना में 5.35 प्रतिशत अधिक है। पिछले वित्त वर्ष में पुरी का कुल वेतन 11.95 करोड़ रुपये था। 2021-22 में पुरी का कुल वेतन रु. 2.64 करोड़ वेतन, रु. अन्य लाभ 49.63 लाख रुपये और रु। इसमें 7.52 करोड़ रुपये का परफॉर्मेंस बोनस शामिल है। वार्षिक रिपोर्ट में कहा गया है कि पुरी का वेतन सभी कर्मचारियों के औसत वेतन का 224 गुना है। वित्त वर्ष 22 में आईटीसी के कार्यकारी निदेशक बी सुमंत और आर टंडन रुपये के लिए। 5.5 करोड़ रुपये से अधिक का वेतन लिया है।

कर्मचारियों की कुल संख्या घटी

31 मार्च 2022 तक आईटीसी कर्मचारियों की कुल संख्या 23829 थी। जो पिछले वित्त वर्ष की तुलना में 8.4 फीसदी कम है। कंपनी में 21,568 पुरुष और 2,261 महिला कर्मचारी थे।कंपनी में स्थायी कर्मचारियों के अलावा 25,513 और कर्मचारी थे। 31 मार्च, 2021 तक आईटीसी कर्मचारियों की कुल संख्या 26,017 थी। 2021-22 में आईटीसी कर्मचारियों के औसत वेतन में 7% की वृद्धि हुई है। वरिष्ठ कर्मचारियों के वेतन में 8 प्रतिशत की वृद्धि की गई है। 31 मार्च 2022 को समाप्त वित्तीय वर्ष में आईटीसी का राजस्व रु. रुपये के मुकाबले 59,101 करोड़ रुपये। 48,151.24 करोड़।

अग्निवीर को देंगे महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा

महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने ‘  अग्निपथ योजना ‘ को लेकर बड़ा ऐलान किया है । आनंद महिंद्रा ने सेना में चार साल की सेवा के बाद अग्निवीर की भर्ती की घोषणा की है । इस बात की जानकारी उन्होंने ट्वीट कर दी है। महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन ने ‘अग्निपथ योजना’ को लेकर जारी हिंसा पर दुख जताया है। महिंद्रा समूह ऐसे प्रशिक्षित, सक्षम युवाओं की भर्ती के लिए इस अवसर का स्वागत करता है। सरकार ने अग्निपथ योजना शुरू की है जो देश के युवाओं को सशस्त्र बलों में भर्ती का मौका देगी। योजना में शामिल होने वाले युवाओं का नाम अग्निवीर होगा। इसमें 4 साल की सेवा के बाद रोजगार सुनिश्चित करने के प्रयास भी शामिल हैं।

Check Also

पीएसईबी अलर्ट! री-चेकिंग/पुनर्मूल्यांकन के लिए 12वीं कक्षा के छात्र इस तिथि तक कर सकते हैं आवेदन, जानें प्रक्रिया

PSEB 12 वीं परिणाम 2022 घोषित: एसएएस नगर: पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड (PSEB) कक्षा बारहवीं अप्रैल …