पटना से जुड़े नालंदा जहरीली शराब कांड के तार, ट्रांसपोर्ट कंपनी पर छापेमारी में 4 ड्रम स्प्रिट जब्त

पटना. नालंदा जहरीली शराब कांड को लेकर बिहार की सियासत (Bihar Politics) से लेकर प्रशासनिक महकमे तक में खलबली मची हुई है. इस घटना में 13 लोगों की मौत हुई है जिसके बाद राज्य का प्रशासनिक महकमा एक्शन मूड में दिख रहा है. नालंदा जहरीली शराब कांड (Nalanda Hooch Tragedy) के तार पटना (Patna) से जुड़ने की बात सामने आई है. नालंदा और पटना के मद्य निषेध विभाग की टीम ने मिले सुराग और सबूतों के आधार पर बुधवार को पटना के अगमकुआं थाना क्षेत्र के ट्रांसपोर्ट नगर (Transport Nagar) में छापेमारी की है. छापेमारी (Raid) के दौरान मद्य निषेध विभाग के अधिकारियों और पटना पुलिस ने यहां से चार ड्रम स्प्रिट जब्त किया है.

पटना मद्य निषेध विभाग के एक्साइज कमिश्नर किशोर कुमार साह ने ने बताया कि नालंदा जहरीली शराब कांड में गिरफ्तार लोगों से पूछताछ और मिले सुराग के आधार पर पटना में छापेमारी की गई है. हालांकि छापेमारी के दौरान परशुराम रोडवेज ट्रांसपोर्ट कंपनी का मालिक, मैनेजर समेत कई लोग फरार होने में सफल रहे. फिलहाल पुलिस ने ट्रांसपोर्ट कंपनी के तीन लोगों को हिरासत में लिया है जिनसे पूछताछ की जा रही है. मद्य निषेध विभाग और पुलिस की टीम इस बात का पता लगा रही है कि ट्रांसपोर्ट कंपनी में मंगाया गया स्प्रिट कहां से आया था, और इसे किन लोगों ने बुक करवाया था.

ट्रांसपोर्ट कंपनी के खिलाफ अगमकुआं थाने में केस दर्ज किया गया है, और पुलिस को मामले का अनुसंधान सौंपा गया है. मद्य निषेध विभाग के असिस्टेंट कमिश्नर ने बताया कि लगभग 880 लीटर स्प्रिट जब्त किया गया है. उन्होंने कहा कि ट्रांसपोर्ट कंपनी के लोगों ने बताया कि जो ए स्प्रिट बाहर से मंगवाया जाता है इसकी कोई बिल्टी नहीं होती है. मद्य निषेध विभाग और पुलिस द्वारा परशुराम रोडवेज ट्रांसपोर्ट कंपनी में छापेमारी से हड़कंप मच गया है.

Check Also

बेगूसराय में सात जून से शुरू होगा ग्रीष्मकालीन रंग कार्यशाला ”रंग उमंग”

बेगूसराय, 26 मई (हि.स.)। राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर की जन्मभूमि बेगूसराय उद्योग और साहित्य ही …