33 दिन बाद CM नीतीश निकले सड़क पर:30 मिनट में घूम गए पटना, गाड़ी के अंदर से ही लिया महामारी का हाल; फिर आकर लिखा- लोग अभी भी मास्क नहीं पहन रहे

नीतीश कुमार CM हाउस से निकलकर पटना के बेली रोड, राजाबाजार और दानापुर के इलाकों का दौरा किया। - Dainik Bhaskar

नीतीश कुमार CM हाउस से निकलकर पटना के बेली रोड, राजाबाजार और दानापुर के इलाकों का दौरा किया।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज 33 दिन बाद एक बार फिर से पटना की सड़कों पर निकले। कोरोना और लॉकडाउन के हालात का रिएलिटी चेक करने मुख्यमंत्री अपने पूरे प्रशासनिक अमले के साथ 15 गाड़ियों पर सवार होकर निकले थे। मुख्यमंत्री इससे पहले आखिरी बार 3 मई और उसके पहले 28 अप्रैल को इसी तरह पटना की सड़कों पर जायजा लेने निकले थे। निरीक्षण के बाद उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से बिहार की जनता को मैसेज भी दिया।

सोशल मीडिया पर नीतीश का मैसेज

30 मिनट तक शहर के विभिन्न हिस्सों में घूमती रही गाड़ियां

पटना के DM-SSP और कई विभागों के प्रधान सचिव के साथ पटना के भ्रमण पर निकले मुख्यमंत्री का काफिला शहर के कई हिस्सों से गुजरा। 1, अणे मार्ग स्थित CM आवास से निकलकर मुख्यमंत्री का काफिला सबसे पहले राजाबाजार पहुंचा। वहां से सगुना मोड़, दानापुर कैंट, दानापुर, दीघा, अशोक राजपथ, मैनपुरा, राजापुर पुल, गांधी मैदान, फ्रेजर रोड, डाकबंगला चौराहा से इनकम टैक्स गोलंबर होते हुए वापस 1, अणे मार्ग लौट आया।

33 दिन बाद 1, अणे मार्ग से निकले CM

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पूरे लॉकडाउन के दौरान CM आवास में ही रहे। उन्होंने लॉकडाउन के दौरान भी हर रोज कई बैठकें की। लेकिन इन सभी बैठकों को वो वर्चुअली ही संबोधित करते रहे। बैठकों में फिजिकली केवल उनके दोनों प्रधान सचिव ही शामिल हुए।

बिहार में लॉकडाउन लगाने से पहले दो बार निकले थे नीतीश

CM नीतीश कुमार इसके पहले दो बार पटना शहर का निरीक्षण करने निकले थे। पहली बार उन्होंने 28 अप्रैल और फिर 3 मई को हालात का जायजा लिया था। इसके बाद ही बिहार में लॉकडाउन करने का निर्णय लिया गया था।

28 अप्रैल को निकले तो नाइट कर्फ्यू बढ़ाया

CM नीतीश कुमार ने 28 अप्रैल को अपने सरकारी आवास 1, अणे मार्ग पर अधिकारियों के साथ बैठक की थी, जिसमें उन्होंने स्वास्थ्य विभाग, आपदा विभाग सहित कोरोना से जुड़े संबंधित विभागों से फीडबैक लिया। बैठक के तुरंत बाद वे पटना की सड़कों पर निकल पड़े थे।

CM उन जगहों पर गए जहां भीड़भाड़ रहने की संभावना रहती है। इसके अगले दिन मुख्यमंत्री ने बिहार के सभी जिलों के DM-SP के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मीटिंग की। इसके बाद ही पूरे प्रदेश में धारा 144 के तहत पाबंदियां लागू करने और नाइट कर्फ्यू की समय सीमा बढ़ाने का निर्णय लिया गया।

3 मई को निकले तो लॉकडाउन का फैसला लिया

CM नीतीश ने 3 मई को एक बार फिर पटना की सड़कों पर घूम-घूमकर हालात का जायजा लिया। CM आवास से निकले और सीधे रूपसपुर, राजाबाजार होते हुए वापस राजापुल होते हुए गांधी मैदान पहुंचे। इसके बाद शाम को मीटिंग कर बेवजह सड़क पर निकलने वालों पर सख्ती बरतने का निर्देश दिया। कहा कि हमने आज खुद शहर में भीड़भाड़ की स्थिति, कोविड प्रोटोकॉल का पालन, मास्क पहनने का जायजा लिया है। अनावश्यक बाहर निकलने वालों पर नियंत्रण करें। इससे ही संक्रमण की भी रोकथाम होगी। इसके बाद ही 4 मई को बिहार में लॉकडाउन लगाने का फैसला किया गया।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

बिहार में अनलाक-2 का ऐलान, दुकानों और कार्यालयों को लेकर बढ़ी छूट

पटना : बिहार में आज अनलॉक- 1 का अं‍तिम दिन है। बुधवार से अनलॉक- 2 …