28 दिसंबर से सस्ता सोना खरीदने का मौका, ऑनलाइन पेमेंट पर पाएं प्रति ग्राम 50 रु का डिस्काउंट

साल 2020 के आखिर में सरकार एक बार फिर सस्ता सोना (Gold) खरीदने का ऑफर दे रही है. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (Sovereign Gold Bond) की 9वीं सीरीज के लिये इश्यू प्राइस 5,000 रुपए प्रति ग्राम तय किया गया है. यह स्कीम 28 दिसंबर, 2020 से सब्सक्रिप्शन के लिए खुलेगी और 1 जनवरी, 2021 को बंद होगी. ऑनलाइन आवेदन करने और डिजिटल माध्यम से भुगतान करने पर निवेशकों को प्रति ग्राम 50 रुपए की छूट मिलेगी. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में निवेश करने वालों को 5 जनवरी 2021 को गोल्ड बॉन्ड आवंटित किए जाएंगे.

बता दें कि सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की 8वीं सीरीज का इश्यू प्राइस 5,177 रुपए प्रति ग्राम तय किया गया था. यह आवेदन के लिये 9 नवंबर 2020 को खुला था और 13 नवंबर को बंद हुआ था. RBI भारत सरकार की ओर से सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड 2020-21 जारी करता है. बॉन्ड में निवेशक एक ग्राम के मल्टीप्लाई में निवेश कर सकते हैं.

 

कैसे तय होता है सोने का रेट

RBI सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड का रेट इंडिया बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन की बेवसाइट पर प्रकाशित रेट के आधर पर यह रेट फिक्स करता है. दिसंबर में 22, 23 और 24 के बीच सोने के औसत भाव आरबीआई जारी करता है. इस बार यह भाव 5,000 रुपए प्रति ग्राम और 50,000 रुपए प्रति 10 ग्राम तय किया गया है. आरबीआई इस स्कीम के तहत 24 कैरेट गोल्ड के बॉन्ड जारी करता है.

500 रुपए तक खरीदें सस्ता सोना

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में ऑनलाइन निवेश करने वालों को 50 रुपए प्रति ग्राम यानी 500 रुपये प्रति 10 ग्राम की छूट मिल रही. ऐसे में अगर निवेशक ऑनलाइन सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में निवेश करता है, तो उसे 500 रुपए प्रति दस ग्राम की छूट मिलेगी.

 

कितना खरीद सकते हैं सोना

स्‍कीम के तहत व्यक्तिगत निवेशक और हिन्दू अविभाजित परिवार एक वित्त वर्ष में कम से कम 1 ग्राम और अधिकतम 4 किलोग्राम सोना खरीद सकता है. ट्रस्ट और ऐसी ही दूसरी इकाइयां हर साल 20 किग्रा सोने खरीद सकती है. गोल्ड बॉन्ड की बिक्री बैंकों, स्टॉक होल्डिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया, पोस्ट ऑफिस और मान्यता प्राप्त शेयर बाजारों के जरिए की जाएगी.

Check Also

पावर कंपनियों का रिन्यूएबल एनर्जी पर फोकस:लॉकडाउन के बाद बिजली की मांग धीरे-धीरे बढ़ रही है, मीडियम टर्म में सप्लाई डिमांड से ज्यादा रह सकती है

  कोविड-19 के चलते लगे लॉकडाउन के उठने के बाद से कारोबारी गतिविधियां बढ़ रही …