1934 में बना था पुल, आज धंस गया:दरभंगा के ऐतिहासिक राजकिला और रामबाग पैलेस को जोड़ने वाला 86 साल पुराना पुल धंसा

 

ओवरलोडेड ट्रक के भार से धंस गया ऐतिहासिक पुल। - Dainik Bhaskar

ओवरलोडेड ट्रक के भार से धंस गया ऐतिहासिक पुल।

  • 1934 में हुआ था इस पुल का निर्माण
  • दरभंगा किले के साथ पुल भी था एक धरोहर

1934 में बना राजा दरभंगा के ऐतिहासिक किले का 86 साल पुराना पुल सोमवार को ध्वस्त हो गया। यह पुल राजकिला और रामबाग पैलेस के बीच से गुजरनेवाली नहर पर बना था। कभी दरभंगा राज परिवार के लोग इसी पुल से एक किले से दूसरे किले जाते थे। किले के साथ-साथ यह पुल भी एक धरोहर था। सोमवार को यह पुल तब धंसा जब एक ओवरलोडेड ट्रक यहां से गुजर रही थी।

सांप भागने के बाद पीटा जा रहा है बिल
दरभंगा के दो ऐतिहासिक किले को जोड़ने वाली पुल के धंसने के बाद प्रशासन हरकत में आई है। विश्वविद्यालय थाना ने ट्रक के मालिक पर FIR दर्ज किया है और पुल की बैरीकेडिंग कर सिपाही को तैनात कर दिया है। स्थानीय निवासियों का कहना है कि लोगों ने जिला प्रशासन से कई बार ये मांग की थी कि पुल पर से भारी वाहनों को गुजरने से रोका जाय। साथ ही पुल की मरम्मत भी कराई जाय। लेकिन, प्रशासन ने इसपर ध्यान नहीं दिया।

हर रोज गुजरती थीं दर्जनों ओवरलोडेड ट्रक

अब पुल के टूट जाने से रामबाग परिसर में रहनेवाले लोगों को आने-जाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। तो वहीं कुछ लोगों का कहना है कि रामबाग परिसर में भवन निर्माण सामग्री की कई दुकानें खुल जाने से यहां हर रोज दर्जनों ओवरलोडेड ट्रक गुजरती थीं, जिससे पुल कमजोर हो गया और धंस गया।

बिक गई किले की जमीन और बस गए आम लोग
राजकिला परिसर स्थित रामबाग की जमीनें राजपरिवार के सदस्यों ने बेच दी हैं। इसके बाद यहां पिछले कुछ सालों में एक बड़ी आबादी बस गई है। अब पुल के ध्वस्त हो जाने से इन लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है

 

Check Also

कोरोना के इलाज में फर्जीवाड़ा:बेगूसराय के धृति जीवन अस्पताल पर लटक सकता है ताला, कल मेडिकल स्टूडेंट की मौत पर दिया था गोल-मोल जवाब

  1 मार्च को मेडिकल स्टूडेंट की मौत धृति जीवन अस्पताल में हो गई थी। …