19 अक्टूबर को नामांकन का अंतिम दिन, बड़ी संख्या में अभ्यर्थियों के पहुंचने की संभावना; कोरोना के चलते लाव-लश्कर के साथ नामांकन नहीं भरे जा रहे

 

जयपुर नगर निगम चुनाव में नामांकन भरने का काम जारी है। सोमवार को नामांकन का अंतिम दिन होगा।

  • अभी तक 135 प्रत्याशियों ने नामांकन दाखिल कर दिया है
  • कांग्रेस और भाजपा प्रत्याशियों ने अब तक नामांकन दाखिल नहीं किया

(शिवप्रकाश शर्मा)। जयपुर नगर निगम हैरिटेज और ग्रेटर में सोमवार को नामांकन का अंतिम दिन है। नामांकन भरने के लिए अभ्यर्थियों की बड़ी संख्या में पहुंचने की संभावना है। नामांकन भरने वालों की भीड़ को देखते हुए कतार में लगाकर नामांकन भरवाया जाएगा।

कांग्रेस और भाजपा प्रत्याशियों ने अब तक नामांकन दाखिल नहीं किया है। इनके अलावा दर्जनों अनेक लोग भी नामांकन दाखिले नहीं कर पाए। वे भी भाजपा व कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशियों के नाम घोषित होने का इंतजार कर रहे थे। इसे देखते हुए कलेक्ट्रेट सहित शहर में सभी 25 नामांकन स्थलों पर सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

अभी तक 135 प्रत्याशियों ने नामांकन दाखिल किया है
अब तक पिछले 4 दिन में 135 प्रत्याशियों ने नामांकन दाखिल किया है। पहले दिन ग्रेटर व हेरिटेज में एक-एक, दूसरे दिन ग्रेटर में 5 व हैरीटेज में एक, तीसरे दिन ग्रेटर में 4 व हेरिटेज में 2, चौथे दिन ग्रेटर में 84 व हेरिटेज में 37 अभ्यर्थियों ने नामांकन पत्र दाखिल किए। इस प्रकार निगम हेरिटेज में 41 और ग्रेटर में 94 अभ्यर्थियों ने नामांकन दाखिल किए हैं।

नामांकन में टोकन की व्यवस्था भी
जिला निर्वाचन अधिकारियों ने अंतिम दिन में बड़ी संख्या में नामांकन भरने की संभावना को देखते हुए तैयारी की गई है। नामांकन स्थलों पर अतिरिक्त स्टाफ लगाया जाएगा ताकि प्रत्याशी समय पर नामांकन दाखिल कर सके। दो हजार नामांकन भरने की संभावना बताई जा रही थी।

जिला निर्वाचन अधिकारी व कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा ने बताया कि अब तक दोनों प्रमुख पार्टियों के प्रत्याशियों के नामांकन नहीं भरने के कारण एक साथ अधिक संख्या में नामांकन भरने के लिए प्रत्यासी पहुंचेंगे। एक साथ प्रत्याशियों के पहुंचने पर कतारबद्ध कर नामांकन भरवाया जाएगा।

नामांकन समाप्ति के साथ प्रचार शुरू होगा
नामांकन समाप्ति के साथ ही चुनाव मैदान में खड़े होने वाले प्रत्याशियों के चेहरे सामने आ जाएंगे। इसलिए सोमवार से ही चुनाव प्रचार-प्रसार का कार्य तेज हो जाएगा। इस बार शहर में दो नगर निगम होने और 250 पार्षदों की सीटें होने के कारण चुनाव की गहमागहमी बहुत ज्यादा रहेगी। हालांकि इस बार कोरोना के चलते लाव-लश्कर के साथ नामांकन नहीं भरा गया।

 

Check Also

मंत्री कमल पटेल ने दिग्विजय सिंह पर निशाना साधा; बोले- बंटाधार का नाम सुनते से आंखों के सामने सड़क के गड्‌ढे, बिना सिंचाई की खेती और अंधेरा घूमने लगता है

  मंत्री कमल पटेल ने दिग्विजय सिंह के खाद को लेकर मुख्यमंत्री को पत्र लिखने …