साइबर सुरक्षा, जैव उर्जा, स्वास्थ्य और दवा क्षेत्र में भारत-ब्राजील के बीच हुए 15 करार

नई दिल्ली : भारत और ब्राजील के बीच शनिवार को आपसी सहयोग से जुड़े 15 समझौतों और करारों पर हस्ताक्षर किए गए। ब्राजील के राष्ट्रपति जायर मेसियस बोल्सोनारो चार दिनों के भारत के राजकीय दौरे पर हैं।

दिल्ली के हैदराबाद हाउस में दोनों देशों के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो की उपस्थिति में करार साझा किए गए। यह करार साइबर सुरक्षा, जैव उर्जा, स्वास्थ्य और दवाओं से जुड़े हैं।

दोनों देशों के बीच कुल नौ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर हुए । यह बायोएनर्जी, तेल एवं प्राकृतिक गैस, अर्ली चाइल्डहुड,  स्वास्थ्य व चिकित्सा, पारंपरिक चिकित्सा व होम्योपैथी, साइबर सुरक्षा, भूविज्ञान व खनिज संसाधन, निवेश, बायोएनर्जी पर अनुसंधान करने के लिए भारत में एक नोडल संस्थान की स्थापना से जुड़े हैं।

दोनों देशों के बीच निवेश को सुविधाजनक बनाने के लिए एक संधि पर हस्ताक्षर हुआ। पशुपालन व डेयरी के क्षेत्र में संयुक्त घोषणा की गई है।आपराधिक मामलों में विधिक सहायता और सामाजिक सुरक्षा को लेकर समझौते हुए हैं। वहीं दोनों देशों ने 2020-2024 की अवधि के दौरान सांस्कृतिक विनिमय और वैज्ञानिक व तकनीकी सहयोग से जुड़े कार्यक्रम संचालित करने पर भी राजी हुए।

कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्रपति बोल्सोनारो का गणतंत्र दिवस में मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल होने का न्यौता स्वीकारने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति बोल्सोनारो को गणतंत्र दिवस में भारत की सांस्कृतिक विविधता देखने को मिलेगी।

वहीं ब्राजील के राष्ट्रपति ने कहा कि दोनों देशों के बीच आज 15 समझौतों पर हस्ताक्षर हुए हैं। इससे दोनों देशों के बीच के द्विपक्षीय संबंध अधिक मजबूत होंगे।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो के नेतृत्व में दोनों देशों के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता हुई।

ब्राजील के राष्ट्रपति जायर मेसियस बोल्सोनारो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निमंत्रण पर 24-27 जनवरी के दौरान भारत के राजकीय दौरे पर शुक्रवार शाम को नई दिल्ली पहुंचे । विदेश राज्यमंत्री वी मुरलीधरन ने उनका स्वागत किया। वह 26 जनवरी को भारत के 71 वें गणतंत्र दिवस परेड में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होंगे।

विदेश मंत्रालय की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार उनके साथ सात मंत्री, ब्राजील की संसद में ब्राजील-भारत मैत्री समूह के अध्यक्ष, वरिष्ठ अधिकारी और एक बड़ा व्यापारिक प्रतिनिधिमंडल भी है।

शनिवार सुबह राष्ट्रपति बोल्सोनारो ने पहले विदेश मंत्री एस जयशंकर से मुलाकात की। इसके बाद उन्हें राष्ट्रपति भवन में राजकीय सम्मान दिया गया। इस अवसर पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मौजूद थे। इसके बाद आगंतुक नेता महात्मा गांधी की स्माधी पर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित करने पहुंचे।

उल्लेखनीय है कि 21 करोड़ की आबादी वाले इस लैटिन अमेरिकी देश की अर्थव्यवस्था 1.8 ट्रिलियन की है।

Check Also

सीरो सर्वे पर मीडिया रिपोर्ट को दिल्ली सरकार ने बताया गलत, हाई कोर्ट ने कहा- अदालत से मत खेलिए

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी सरकार ने दिल्ली उच्च न्यायालय से बुधवार को कहा कि तीसरे …