15 साल में बिहार का विकास नहीं कर पाए नीतीश कुमार तो हार कर कह रहे हैं समुद्र नहीं है तो कारखाना कहां से लगाएं- तेजस्वी यादव

 

तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा वह हार चुके हैं। 15 साल में डबल इंजन की सरकार विकास नहीं कर पाई तो अब क्या करेगी।

  • नीतीश पर निशाना साधते हुए कहा- अनुभवी नहीं था तो उप-मुख्यमंत्री क्यों बनाया
  • रणदीप सुरजेवाला ने कहा- मशकूर उस्मानी की टिकट पर विवाद फैला रही भाजपा

महागठबंधन का घोषणापत्र जारी करते हुए तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि वह मेरे अनुभव पर सवाल उठाते रहे हैं। मैं अगर अनुभवी नहीं था तो उपमुख्यमंत्री क्यों बनाया? बात रही विकास की, तो उनसे यह काम 15 सालों में संभव नहीं हो पाया तो अब हार कर कह रहे हैं कि यहां समुद्र नहीं है इसलिए कल-कारखाने नहीं लगा सकते।

उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार थक चुके हैं। वह रोजगार, गरीबी, भुखमरी और पलायन पर बात नहीं करते। मरौढ़ा, परसा, मधेपुरा में कारखाना लगा कि नहीं इसका जवाब नहीं देते। 15 साल से डबल इंजन की सरकार है तो सवाल किससे किया जाएगा? तेजस्वी यादव ने कलशस्थापन पर घोषणापत्र जारी करने पर कहा कि आज से नवरात्र की शुरुआत है इसलिए हम बदलाव का संकल्प ले रहे हैं।

इधर, कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजवाला ने जाले से मशकूर उस्मानी को पार्टी द्वारा टिकट पर चुटकी लेते हुए कहा कि जिन्ना की मजार पर भाजपा अध्यक्ष माथा टेके और सवाल हमसे पूछा जाए? दावत उड़ाए मोदी जी और सवाल हमसे पूछा जाए? ये विवाद भाजपा द्वारा फैलाया जा रहा है। उन्हें याद नहीं है कि ऐसा करने पर लालू प्रसाद यादव ने ही उन्हें गिरफ्तार भी किया था।

उन्होंने एनडीए पर तंज कसते हुए कहा कि बिहार की पीठ पर नीतीश-मोदी ने वार किया है। सृजन के फेविकोल से सटकर सरकार चलाई गई। यहां तीन तरह के गठबंधन है। पहला भाजपा -लोजपा, दूसरा भाजपा-ओवैसी और तीसरा भाजपा-जदयू का। उनकी सरकार हरित क्रांति को भी खत्म करना चाहती है। हमारी सरकार आएगी तो विधानसभा के पहले सत्र में ही तीनों कृषि कानून को खत्म करेगी।

 

Check Also

चुनावी सभा में मंच पर बैठे थे तेजस्वी; पहली चप्पल बगल से गुजरी, दूसरी सीधा गोद में जा गिरी

  औरंगाबाद में चुनावी सभा के दौरान हुई चप्पल फेंकने की घटना सामने की ओर …