भारत में कैंसर के 14.1 लाख नए मामले, 9.1 लाख मरीजों की मौत: WHO

कैंसर के वैश्विक बोझ के नवीनतम विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुमान से संकेत मिलता है कि भारत में वर्ष 2022 में कैंसर के 14.1 लाख से अधिक नए मामले सामने आएंगे और 9.1 लाख कैंसर रोगियों की मृत्यु हो जाएगी। WHO की इंटरनेशनल एजेंसी फॉर रिसर्च ऑन कैंसर (IARC) के अनुमान के अनुसार, होंठ, मौखिक गुहा और फेफड़ों का कैंसर पुरुषों में अधिक आम है, जबकि स्तन और गर्भाशय ग्रीवा का कैंसर महिलाओं में अधिक आम है। भारत में, ऐसे 32.6 लाख मरीज हैं जो कैंसर निदान के पांच साल बाद भी जीवित हैं, जबकि वैश्विक स्तर पर यह संख्या 5.3 करोड़ है। वैश्विक स्तर पर कैंसर के दो करोड़ नए मामले सामने आए हैं जबकि 97 लाख मरीजों की मौत हो गई है।

आईएआरसी ने 185 देशों के 36 प्रकार के कैंसर रोगियों के डेटा के विश्लेषण के आधार पर ये विवरण प्रदान किया। आईएआरसी के अनुसार, हर पांच में से एक व्यक्ति को कैंसर का खतरा होता है और हर 9 पुरुष कैंसर रोगियों में से एक और हर 12 महिला कैंसर रोगियों में से एक की इस बीमारी से मृत्यु हो जाती है। भारत में 75 साल की उम्र से पहले कैंसर होने का खतरा 1.6 प्रतिशत है, जबकि इस उम्र से पहले कैंसर से मरने का खतरा 7.2 प्रतिशत है।