कोण्डागांव: गाजे बाजे के साथ सामूहिक विवाह कार्यक्रम में परिणय सूत्र में बंधे 120 जोड़े

कोण्डागांव, 03 फरवरी (हि.स.)। कोण्डागांव जिला मुख्यालय के विकासनगर स्टेडियम में शनिवार को महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना अंतर्गत सामूहिक विवाह कार्यक्रम में जिले के 120 जोड़ों का विवाह विधायक लता उसेंडी की उपस्थिति में संपन्न हुआ। दूल्हों की बारात गाजे बाजे के साथ विकासनगर स्टेडियम पहुंची। बारात में परिजनों के साथ विभाग के अधिकारी-कर्मचारी भी बाराती बन कर नाचते दिखाई दिए, जिनका परिजनों के द्वारा पूरी रीति रिवाज के साथ स्वागत किया गया।

इस आयोजन में कोण्डागांव परियोजना से 30, मर्दापाल से 30, बयानार से 30 तथा माकड़ी से 30 जोड़ों ने फेरे लिए। इस कार्यक्रम में गायत्री पद्धति से प्रसिद्ध पंडित महाप्राण द्वारा विवाह संपन्न कराया गया। कार्यक्रम में कोण्डागांव विधायक लता उसेंडी भी शामिल हुई, जहां उन्होंने नवदम्पत्तियों को आशीर्वाद एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि पहले लोगों को विवाह के लिए बहुत अधिक खर्च करना पड़ता था। जिससे उनकी आर्थिक स्थिति बिगड़ जाती थी और वह कर्ज के जाल में फंस जाते थे। माता-पिता द्वारा जमीन तक गिरवी रख दी जाती थी। जिसे देखते हुए छत्तीसगढ़ शासन द्वारा राज्य में मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना प्रारंभ की गई थी। आज परिस्थितियों बदल गई हैं। सामूहिक विवाह द्वारा निर्धन परिवारों का विवाह अब निःशुल्क कराया जा रहा है। जिससे लोगों को लाभ प्राप्त हो रहा है। उन्होंने सभी नवदम्पत्तियों एवं परिजनों को समाज के लोगों को भी सामुदायिक विवाह के लिए प्रेरित करने हेतु कहा। उन्होंने सभी नवदम्पत्तियों एवं आयीं महिलाओं को मुख्यमंत्री द्वारा कैबिनेट में लिए गए फैसले के तहत महतारी वंदन योजना तहत लाभ लेने के लिए प्रेरित किया। जिसके तहत प्रत्येक महिला को 1000 रुपये की आर्थिक सहायता महिलाओं को प्रदान की जाएगी।