01 जुलाई से संचारी रोग नियंत्रण व 12 जुलाई से शुरू होगा दस्तक अभियान

बाराबंकी : जिलाधिकारी बाराबंकी डाॅ0आदर्श सिंह ने संचारी रोग नियंत्रण अभियान व दस्तक अभियान के सफल क्रियान्वयन को लेकर विभागीय अफसरों की जवाबदेही तय करते हुए दिशा निर्देश जारी किए हैं। कलेक्ट्रेट स्थित लोक सभागार में आयोजित बैठक में डीएम ने संचारी रोग नियंत्रण अभियान व दस्तक अभियान के लिए मुख्य चिकित्सा अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, प्रभारी अधिकारी स्थानीय निकाय, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, उप कृषि निदेशक, जिला कार्यक्रम अधिकारी,  जिला समाज कल्याण अधिकारी, जिला उद्यान अधिकारी, दिव्यांगजन कल्याण अधिकारी, जिला कृषि अधिकारी, जिला विकास अधिकारी, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी तथा अपर जिला सूचनाधिकारी को निर्देशित किया है कि वे अपने-अपने विभाग से सम्बन्धित दायित्वों को समझ लें तथा उसी के अनुरूप तैयारी प्रारम्भ कर दें। जिलाधिकारी ने कहा कि इस वर्ष में भी संचारी रोग नियंत्रण अभियान आगामी 01 जुलाई से 31 जुलाई 2021 तक एवं दस्तक अभियान 12 जुलाई से 25 जुलाई 2021 तक चलेगा।

 

जिलाधिकारी ने कहा कि संचारी रोगों तथा दिमागी बुखार पर सफलतापूर्वक नियंत्रण पाने के लिए मुख्य विभागों यथा-चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा, नगर विकास, पंचायती राज/ग्राम्य विकास, पशुपालन, बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार, शिक्षा विभाग, दिव्यांगजन सशक्तीकरण, कृषि एवं सिंचाई, सूचना, उद्यान आदि के मध्य उचित समन्वय एवं उसका योगदान महत्वपूर्ण है। संचारी रोग नियंत्रण अभियान-माह जुलाई 2021 में किए जाने वाले कार्यो की ग्रामवार, माहवार कार्य योजना तैयार ब्लॉक एवं जिला स्तरीय समन्वय समिति में प्रस्तुत कर ब्लाक/जनपद स्तरीय समेकित कार्य योजना तैयार की जाय। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि जनपद में दिमागी बुखार, कोविड-19 एवं अन्य संक्रामक रोगों के संबंध में व्यापक जन-जागरूकता हेतु माह जुलाई  में 12 से 25 जुलाई के मध्य “दस्तक अभियान” आयोजित किया जाना है। इस अभियान के जरिये दिमागी बुखार सम्बन्धित शिक्षा एवं व्यवहार परिवर्तन के संदेश गांव के हर एक घर और परिवार तक पहुंचाने का लक्ष्य है, जिसे हर सम्भव प्रयास करके साकार किया जायें। इसमें आशा, आंगनवाड़ी, ए0एन0एम0, जिसे हर सम्भव प्रयास करके साकार किया जायें।

 

इसमें आशा, आंगनवाड़ी , ए0एन0एम0, स्कूल शिक्षक, ग्राम प्रधान/ग्राम विकास अधिकारी का विशेष सहयोग लिया जाय। समस्त सरकारी कार्यालयों में विभागाध्यक्ष, विद्यालयों में अध्यापक, नगरीय निकायों में कार्यकारी अधिकारी तथा ग्राम स्तर पर ग्राम विकास अधिकारी द्वारा पर्यावरणीय तथा व्यक्तिगत स्वच्छता एवं रोगों से बचाव हेतु सभी आवश्यक उपाय अपनाने हेतु जागरूक किया जायें। डीएम द्वारा इस अभियान के लिए सीएमओ को नोडल अधिकारी नामित करते हुए उत्तरदायित्व निर्धारित किया गया है जिसमें उन्हें निर्देश दिए गए हैं कि वे समस्त विभागों की कार्ययोजना प्राप्त कर और इसे समेकित करते हुए जनपद की कार्ययोजना तैयार करायें तथा शासन को समय से उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। बैठक के दौरान मुख्य चिकित्साधिकारी बी0के0एस0 चैहान, उप जिलाधिकारी अभय पाण्डेय, जिला विद्यालय निरीक्षक राजेश कुमार वर्मा, जिला विकास अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला दिव्यांगजन अधिकारी, अपर जिला सूचनाधिकारी आरती वर्मा, सहित सम्बन्धित सभी विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

Check Also

प्रतापगढ़ : मुठभेड़ में पुलिस की गोली से घायल हुआ बदमाश, साथी फरार

प्रतापगढ़, 05 अगस्त (हि.स.)। रानीगंज थाना क्षेत्र में गुरुवार की सुबह मुठभेड़ में एक बदमाश …