हिसार:संध्या शर्मा का एचएयू अधिकारियों ने किया स्वागत

हिसार, 10 जून (हि.स.)। हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय हिसार दिनों-दिन लुप्त होती जा रही देश की प्राचीनतम लोकधर्मी नाट्य परम्परा स्वांग के संवर्धन में जुटा हुआ है। विश्वविद्यालय से सहायक प्रोफेसर डॉ. संध्या शर्मा इसी परंपरा को आगे बढ़ाने वाली ऐसी महिला सांगी हैं जो स्वांग मंडली का प्रतिनिधित्व करती हैं। इसके लिए उन्हें हाल ही में मुख्यमंत्री मनोहर लाल एवं कला संस्कृति मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने सम्मानित भी किया। इस दौरान उन्हें प्रशंसा पत्र व नकद राशि प्रदान की गई। कुलपति प्रोफेसर बीआर कंबोज ने डॉ. संध्या शर्मा बधाई दी।
विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर बीआर कंबोज ने गुरूवार को कहा कि विलुप्त होती स्वांग परम्परा को बचाने के लिए डॉ. संध्या शर्मा द्वारा किए जा रहे प्रयास सराहनीय है। विश्वविद्यालय न केवल अनुसंधान, शिक्षा एवं खेलों में बल्कि हर क्षेत्र में अपनी प्रतिभा की अमिट छाप छोड़ रहा है और निरंतर उन्नति के पथ पर अग्रसर है।
डॉ. संध्या शर्मा के अनुसार उनका मकसद दिनों-दिन लुप्त हो रही प्रदेश की लोक कला व संस्कृति को पुन: जीवित करना है। इसके लिए विश्वविद्यालय की तरफ से भी उन्हें भरपूर सहयोग मिल रहा है।
छात्र कल्याण निदेशक डॉ. देवेंद्र सिंह दहिया ने बताया कि हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय एकमात्र ऐसा संस्थान हैं जहां लोक संस्कृति को पाठ्यक्रम में एक विषय के रूप में शामिल किया गया है।
हिन्दुस्थान समाचार

Check Also

MLA दिलीप लांडे ने ठेकेदार को सड़क पर बिठाया, सिर पर कचरा डलवाया

मुंबई : मुंबई में शिवसेना विधायक ने एक ठेकेदार से बदसलूकी की हद पार कर …