हादसा या सुसाइड?:पानीपत में मॉल की दूसरी मंजिल से गिरकर बिजनेसमैन की इकलौती बेटी की संदिग्ध मौत

 

यहां से गिरी युवती। - Dainik Bhaskar

यहां से गिरी युवती।

  • मित्तल मेगा मॉल में शॉपिंग करने गई थी युवती, पैर फिसलकर गिरना बताया जा रहा कारण
  • युवती के परिजनों ने नहीं की कोई कानूनी कार्रवाई, सुरक्षा के लिए मॉल में नहीं लगा है जाल

पानीपत के सेक्टर-25 स्थित मित्तल मेगा मॉल खुलते ही एक युवती की जान चली गई। सोमवार को मॉल खुलने के कुछ देर बाद ही मॉल की दूसरी मंजिल से एक युवती गिर गई। मॉल प्रशासन ने युवती को पास स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां, इलाज के दौरान दोपहर को युवती ने दम तोड़ दिया। युवती के परिजनों ने कानूनी कार्रवाई से इंकार करते हुए 174 के बयान दर्ज कराए हैं।

सेक्टर-25 स्थित मित्तल मेगा मॉल।

सेक्टर-25 स्थित मित्तल मेगा मॉल।

सेक्टर-12 निवासी 25 वर्षीय पल्लवी सोमवार सुबह को सेक्टर-25 स्थित मित्तल मेगा मॉल गई थी। मॉल की एंट्री पर तैनात सिक्योरिटी गार्ड अनीता ने बताया कि युवती करीब 9:45 बजे आई। तब तक मॉल में एंट्री न होने के कारण गार्ड ने युवती को प्रवेश नहीं दिया। करीब 10 बजे व्यापारी आए तो युवती भी उनके साथ अंदर चली गई।

10:10 बजे युवती के दूसरी मंजिल से बेसमेंट फ्लोर पर गिरने की आवाज आई। ऊपर से गिरने के कारण युवती के सिर में गुम चोट थी। मॉल प्रशासन ने युवती को सनौली रोड स्थित मैक्स प्लस अस्पताल में भर्ती कराया और परिजनों को सूचना दी। इलाज के दौरान दोपहर को युवती की मौत हो गई।

सेक्टर 11-12 पुलिस चौकी प्रभारी जयवीर।

सेक्टर 11-12 पुलिस चौकी प्रभारी जयवीर।

परिजनों ने कराए हैं 174 के बयान दर्ज
सेक्टर 11-12 पुलिस चौकी प्रभारी SI जयवीर ने बताया कि युवती के पिता दिनेश बिजनेसमैन हैं। परिजनों ने बताया कि पल्लवी सोमवार सुबह शॉपिंग करने की बात कहकर मित्तल मेगा मॉल गई थी। पैर फिसलने के कारण वह नीचे गिर गई और इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

डेढ़ साल पहले नौकरी छोड़ घर आई थी इकलौती बेटी

पुलिस ने बताया कि युवती गुरुग्राम स्थित एक निजी कंपनी में जॉब करती थी। करीब डेढ़ साल पहले वह जॉब छोड़कर घर आ गई। तब से वह घर पर ही थी। पल्लवी परिवार की इकलौती बेटी थी। पल्लवी का एक छोटा भाई है।

दो दिन पहले भी मॉल आई थी युवती

मॉल के दुकानदारों ने बताया कि दो दिन पहले भी युवती को मॉल में घूमते देखा गया था। वह 4 मंजिला मॉल की आखिरी मंजिल तक गई और फिर वापस आ गई। सोमवार को कुछ व्यापारियों ने युवती को गिरते भी देखा, लेकिन कुछ कर न सके।

मॉल में नहीं लगा है जाल

किसी अनहोनी से बचने के लिए बहुमंजिला मॉल के इनसाइड में सभी कॉर्नर पर जाल लगाया जाता है। मेगा मित्तल मॉल चार मंजिला है, लेकिन किसी भी कॉर्नर पर जाल नहीं लगाया गया है। हालांकि मॉल के साइट इंजीनियर भूपेंद्र का कहना है कि मॉल में सुरक्षा के सभी मानकों को पूरा किया गया है।

फुटेज देने से बचता रहा मॉल प्रशासन, रजिस्टर में युवती की एंट्री भी नहीं

मॉल की दूसरी मंजिल से गिरने का पूरा हादसा मॉल की CCTV फुटेज में कैद हुआ है। इसके बाद भी मॉल प्रशासन फुटेज देने से बचता रहा। कोविड काल में मॉल में प्रवेश करने वालों का टेंप्रेचर मापने के साथ उनकी नाम, फोन नंबर और पता लिखना अनिवार्य है, लेकिन मॉल के रजिस्टर में युवती की एंट्री तक नहीं है। ऐसे में मॉल प्रशासन पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

60 वर्षीय महिला से रेप की जांच एसआईटी से कराने की मांग : पश्चिम बंगाल

   पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद हिंसा के दौरान एक बलात्कार की पीड़ित महिला ने …