हादसा या खुदकुशी:ऐशबाग में छात्रा संदिग्ध हालत में दूसरी मंजिल से नीचे गिरी; डेढ़ घंटे तक जमीन पर तड़पती रही, मौत

 

भोपाल में दूसरी मंजिल से नीचे गिरने के बाद छात्रा करीब डेढ़ घंटे तक तड़पती रही। - Dainik Bhaskar

भोपाल में दूसरी मंजिल से नीचे गिरने के बाद छात्रा करीब डेढ़ घंटे तक तड़पती रही।

  • हादसे के कारणों का पता नहीं चल सका, पुलिस कर रही जांच

भोपाल में 20 साल की एक छात्रा करीब 20 फीट ऊंचाई से सड़क पर गिरने के बाद डेढ़ घंटे तक खून से लथपथ तड़पती रही। राहगीरों ने घायल को देखने के बाद पुलिस की मदद से उसे अस्पताल पहुंचाया। इलाज के दौरान रविवार रात उसकी मौत हो गई। वह अंतिम बार गैलरी में फोन पर बात करके देखी गई थी।

हालांकि TI ऐशबाग अजय नायर ने बताया कि मामला संदिग्ध है। सुसाइड और हादसा दोनों ही बिंदुओं पर जांच कर रहे हैं, इसलिए छात्रा के फोन की कॉल डिटेल निकलवा रही है। घटना शनिवार-रविवार की दरमियानी रात की बताई जाती है।

इसी बिल्डिंग की दूसरी मंजिल से पूजा नीचे गिरी थी।

इसी बिल्डिंग की दूसरी मंजिल से पूजा नीचे गिरी थी।

ऐशबाग पुलिस के अनुसार रविवार सुबह करीब 4 बजे लोगों का फोन आया कि एक लड़की घायल अवस्था में सड़क पर पड़ी है। पुलिस ने घायल को अस्पताल पहुंचाया। हालत गंभीर होने के कारण उसे हमीदिया अस्पताल रैफर कर दिया गया। उसकी पहचान पुष्पा नगर में रहने वाली 20 साल की पूजा मालवीय पिता मोहन मालवीय के रूप में हुई।

वह बीए फर्स्ट ईयर की छात्रा थी। वह माता-पिता और बहन के साथ बिल्डिंग के सेकंड फ्लोर पर रहती थी। जांच के दौरान कुछ लोगों ने बताया कि शनिवार-रविवार की रात करीब ढाई बजे छात्रा बालकनी में फोन पर बात करते देखी गई थी।

बात करते समय वह घर के पिछले हिस्से में बने एक छज्जे की तरफ चली गई। वहां वह दीवार से टिक कर बात कर रही थी। उसके बाद किसी ने उसे नहीं देखा। उसके बाद वह लोगों को सड़क पर गंभीर हालत में मिली। पूजा ने वहां से छलांग लगाई या फिर संतुलन बिगड़ने के कारण गिरी। इन सवालों को लेकर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

परिजन के बयान के बाद होगा खुलासा
एएसआई अखिलेश त्रिपाठी का कहना है कि घटना स्थल के निरीक्षण किया गया है। गैलरी की बाउंड्री वॉल की ऊंचाई ज्यादा नहीं थी। आशंका है कि हो सकता है कि संतुलन बिगड़ने के कारण वह नीचे गिर गई हो। दूसरी आशंका है, लड़की ने खुदकुशी के लिए दूसरी मंजिल से छलांग लगा ली हो। सवाल यह भी है कि इतनी छात्र गैलरी में आई क्यों? पुलिस को आसपास सीसीटीवी कैमरे भी नहीं मिले हैं। ऐसे में अब पूरा मामला का पता परिजन के बयान होने के बाद चल सकेगा।

 

Check Also

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने फोर्टिस अस्पताल में लगवाई कोरोना वैक्सीन

नई दिल्ली : केंद्र वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कोविड-19 वैक्सीन का पहला डोज लगवा …