हाथरस कांड: सभी आरोपियों को अहमदाबाद लेकर पहुंची CBI की टीम, होगा नार्को टेस्ट

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के हाथरस कांड के चारों आरोपियों का नार्को टेस्ट होगा, सीबीआई की टीम इन्हे सभी दुष्कर्म आरोपियों को लेकर अहमदाबाद पहुंच चुकी है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सीबीआई की ही टीम इन्हे हाथरस जेल से अपने लेकर ही गई है। कथित गैंगरेप घटना मामले में वारदात स्थल पर सबसे पहले पहुंचने वाला छोटू ने ही सबसे पहले अपना नार्को और पॉलीग्राफ टेस्ट कराने के लिए हामी भरी थी। छोटू का कहना था कि, वो टेस्ट करवाने के लिए है, इससे सच सबके सामने आ जायेगा। छोटू ने पीड़िता के परिवार के सदस्यों का भी टेस्ट करवाने की मांग की थी। हाथरस बूलगढ़ी गांव में युवती के साथ हुई घटना की गुत्थी को सुलझाने के लिए सीबीआई की टीम जुटी हुई है।

 

छोटू का कहना है कि, घटना वाले दिन सबसे पहले वो ही वारदात वाली जगह पहुंचा था, उसका कहना है कि, वो ही पास के खेत में काम कर रहा था। यही युवक घटना की जानकारी मिलते ही सबसे पहले पीड़िता के घर उसके भाई को बुलाने गया था और वो उसका के घर के पास ही रहता है। सीबीआई की टीम छोटू से करीब बीस बार पूछताछ कर चुकी है। सीबीआई की टीम बीते गुरुवार को छोटू की कोरोना जांच कराई थी, जिसकी रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद ही टीम ने उसका नार्को-पॉलीग्राफ टेस्ट करवा रही है। सीबीआई का ये भी कहना है कि, युवक खुद नार्को टेस्ट के लिए तैयार है।

वहीं युवक का कहना है कि, वो सच सामने लाने के लिए जांच करवाना चाहता है, लेकिन वो इस बात कि भी मांग कर रहा है कि, पीड़ित परिवार के भी सभी सदस्यों का नार्को टेस्ट होना चाहिए। छोटू जहां टेस्ट के लिए तैयार हैं वहीं उसकी मां नहीं चाहती है कि, बेटे का टेस्ट हो। उसका कहना है कि, बेटा अभी 18 वर्ष का नहीं हुआ है। बेटे ने जो उस देखा था, वो कई बार बता चुका है इसलिए अगर जांच होनी है तो पीड़िता के परिवार के लोगों की हो।

Check Also

26/11 बरसी पर रतन टाटा ने शेयर की ऐसी भावुक तस्वीर, लिखा बेहद इमोशल पोस्ट

पाकिस्तान से आए आतंकियों ने 12 साल पहले आज के दिन ही मुंबई को हिला …