Home / देश / हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन के इस्तेमाल का दायरा बढ़ा, ICMR ने जारी की गाइडलाइन्स

हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन के इस्तेमाल का दायरा बढ़ा, ICMR ने जारी की गाइडलाइन्स

नई दिल्ली: भारतीय आयुर्विज्ञान शोध परिषद (ICMR) ने हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन (HCQ) के इस्तेमाल को लेकर नए दिशा निर्देश जारी हुए हैं. हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन दवा के इस्तेमाल का अब दायरा बढ़ा दिया गया है. गाइडलाइन के मुताबिक, एहतियात के तौर पर ये दवा वह सभी हेल्थ केयर वर्कर ले सकते हैं जिनमें लक्षण नहीं है. इसके अलावा अस्पतालों में काम करने वाले एसिंप्टोमेटिक हेल्थकेयर, कंटेनमेंट जोन में तैनात फ्रंटलाइन वर्कर्स और कोरोना से जुड़ी गतिविधियों में शामिल पुलिसकर्मी-अर्धसैनिक बल भी ये दवा ले सकते हैं.

कोरोना संक्रमितों के परिवार के लिए भी उपलब्ध
गाइडलाइन के अनुसार, ऐसे लोग जिनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है उनके संपर्क में आने वाले सभी लोग भी ये दवा ले सकते हैं, भले ही उनमें कोरोना का कोई लक्षण नहीं पाया गया है. कंफर्म केस के परिवार के लोग जिन्हें अभी लक्षण नहीं है उन्हें ये दवा सिर्फ तीन हफ्तों के लिए लेनी होगी. इन्हें पहले दिन 400 mg दिन में दो बार लेना है. इसके बाद रोज एक दवा खाने के साथ अगले 3 हफ्ते तक लेनी है.

हालांकि ये दवा 15 साल से कम उम्र के बच्चों और गर्भवती महिला को नहीं दी जा सकती है. वहीं दवा सिर्फ डॉक्टरों के परामर्श पर मेडिकल शॉप से मिलेगी.

हेल्थ वर्कर्स को कब लेनी चाहिए दवा
कोविड-19 अस्पताल में या कंटेनमेंट जोन या नॉन कोरोना अस्पताल में काम करने वाले हेल्थ केयर वर्कर्स, फ्रंटलाइन वर्कर्स के सदस्य इस दवा को 7 हफ्तों तक खानी होगी. पहले दिन 400 एमजी दिन में दो बार और उसके बाद रोज एक गोली खाने के साथ. हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन को आमतौर पर गठिया जैसी बीमारी के लिए 8 हफ्ते दिया जाता है. ये पहले से मेडिकल प्रैक्टिस में है.

ECG कराना न भूले
एहतियात के तौर पर हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन दवा खाने वालो को एक बार ईसीजी करा लेना चाहिए. Cardiovascular से संबंधित शिकायत जैसे सीने में दर्द होने पर ईसीजी कराए. जो लोग सात हफ्ते से ये दवा एहतियात के तौर पर ले रहे उन्हें आगे दवा जारी रखने के लिए ईसीजी करवाना होगा. वहीं एक बार कम से कम ईसीजी करना होगा जब ये दवा एहतियात के तौर पर दी जा रही है.

किसी कंफर्म केस के संपर्क में आए परिवार के लोग जिन्हें एहतियात के तौर पर दवा दी जा रही है, अगर उनका कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आता है तो तुरंत दवा बंद कर डॉक्टर से संपर्क करें.

Check Also

दिल्ली दंगे की साजिश रचने के आरोप में ‘पिंजरा तोड़’ कार्यकर्ता नताशा नरवाल को गिरफ्तार किया

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली में फरवरी महीने में हुए दंगों की ...