हमारी बॉडी से होठों का रंग क्यो होता है अलग?..-*

बोलने में हम कई सारे शब्दों के लिए होठ का प्रयोग करते है। वहीं खाना खाने के लिए भी होठ का प्रयोग होता है। लेकिन क्या आपने कभी इस बात पर गौर किया कि पूरे शरीर का रंग एक जैसा और होठों का रंग अलग ऐसा क्यों? ये सवाल हर दिमाग में नहीं आता क्योंकि हम जब आइने के सामने जाते है तो बस इस बात पर गौर करते है कि अच्छे लग रहे है या नहीं।

दिमाग में घंटियां तो बजी होगी कि होठ लाल या अलग रंग के क्यों होते है। दरअसल इसका अपना कारण है जिसके बारे में हम आपको बताने वाले है। लेकिन आपको ये भी बता दे कि अलग-अलग होठ के रंग आपकी सेहत की ओर भी इशारा करते है और सचेत करते है कि आप किस दौर से गुजर रहे है।

आपकी बॉडी का रंग आपके होठों के रंग से मेल नहीं खाता। इसके पीछे वजह है दोनों की स्किन का अलग होना। दरअसल दोनों जगह की स्किन की संरचना अलग होती है। आपकी बॉडी में जो स्किन होती है उसमें वो आपकी स्किन की बाहरी परत है उसे एपीडर्मिस कहते है, उसके भीतरी परत को डर्मिस कहते है।

एपिडर्मिस में एक और परत होती है जिसे स्ट्रेटम कोर्नम कहते है। इस परत का काम आपकी स्किन का बचाव करना होता है। होठों में भी इसी तहर की परत होती है लेकिन जो स्ट्रेटम कोर्नम की परत होती है वो शरीर की परत से कम मोटी होती है यहीं कारण है जिसकी वजह से होठों को रंग शरीर के रंग से अलग होता है।

Check Also

हमेशा दिखना चाहते हैं जवां तो अपनी डाइट में शामिल करें ये चीजें

जवां दिखना हर किसी को पसंद होता है, लेकिन उम्र की मार और गलत लाइफस्टायल …