Tuesday , July 16 2019
Home / देश / स्वच्छता अभियान का संकल्प संसद से गांव-गांव तक पहुंचे: बिरला

स्वच्छता अभियान का संकल्प संसद से गांव-गांव तक पहुंचे: बिरला

नयी दिल्ली: लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शनिवार को संसद भवन परिसर में दो दिवसीय स्वच्छता अभियान का शुभारंभ किया।

श्री बिरला ने सांसदों से स्वच्छता अभियान के इस संकल्प को संसद से प्रत्येक गांव तक ले जाने का आग्रह किया। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, केंद्रीय संसदीय कार्य, कोयला और खान मंत्री प्रल्हाद जोशी और कई अन्य केंद्रीय मंत्री, राज्य मंत्री, संसद सदस्य तथा अन्य गण्यमान्य अतिथि इस अवसर पर उपस्थित थे।

इस अवसर पर गण्यमान्य प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए श्री बिरला ने कहा कि संसद भवन परिसर में आयोजित स्वच्छता अभियान का शुभारंभ राष्ट्रपति महात्मा गांधी द्वारा देखे गए स्वच्छता के सपने को साकार करने का एक प्रयास है और इसका उद्देश्य स्वच्छता के संदेश को घर-घर तक पहुंचाना है। इस बात को ध्यान में रखते हुए कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आयोजित स्वच्छता अभियान गांधी जी की 150वीं वर्षगांठ के दृष्टिगत शुरू किया गया था।
श्री बिरला ने कहा कि संसद सदस्य लोकतंत्र के मंदिर, संसद में भारत की 130 करोड़ जनता के प्रतिनिधि हैं और इस अभियान के प्रति जनता को जागरूक एवं सजग बनाने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने कहा कि स्वच्छता का महत्व देवभक्ति के समान ही है और यह स्वच्छता अभियान मात्र संसद भवन तक सीमित अभियान ही नहीं है अपितु इस अभियान का उद्देश्य स्वच्छता के संदेश को देश के प्रत्येक गांव और नगर तक पहुंचाने का है ताकि समाज के लोग स्वस्थ रह सकें।
इससे पूर्व श्री राजनाथ सिंह ने कहा कि यह पहला ऐसा अवसर है जब संसद भवन में स्वच्छता अभियान का शुभारंभ किया गया। उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष श्री बिरला को उनकी इस पहल के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया। श्री सिंह ने कहा कि स्वच्छता अभियान अब एक आंदोलन बन गया है और देश का जन-जन अपने परिवेश और वातावरण की स्वच्छता तथा उससे संबंधित स्वास्थ्यगत लाभों के प्रति सजग एवं सतर्क है।

लोकसभा अध्यक्ष, केंद्रीय मंत्रियों, संसद सदस्यों और अन्य गण्यमान्य अतिथियों ने भी गांधी जी की प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किये तथा देश में “स्वच्छता” के संदेश को फैलाने की प्रतिज्ञा की जिसमें अन्य बातों के साथ-साथ यह बताया गया कि स्वच्छता ईश्वर की भक्ति के समान है और समाज को स्वस्थ रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। एक स्वस्थ व्यक्ति ही एक स्वस्थ समाज का निर्माण कर सकता है। तदनंतर श्री बिरला ने संसद भवन, संसदीय ज्ञानपीठ, संसदीय सौध और संसदीय सौध विस्तार भवन का निरीक्षण किया और स्वच्छता तथा परिसर को स्वच्छ रखने के लिए विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए।

संसद भवन परिसर में आयोजित दो दिवसीय स्वच्छता अभियान 13 और 14 जुलाई 2019 दोनों दिन, पूर्वाह्न नौ से साढ़े 10 बजे तक आयोजित किया जा रहा है। अभियान के सुचारु रूप से संचालन हेतु संसद भवन परिसर को सात खंडों में विभाजित किया गया है और इस स्वच्छता अभियान को समन्वित करने के लिए वरिष्ठ नोडल अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं।

Loading...

Check Also

शहर में जहां देखो वहां लगे हैं रेत के अवैध ढेर

भोपाल: शहर में जहां देखो, वहां रेत के अवैध ढेर लगे हैं। राजधानी के होशंगाबाद ...