सोलन में भाजपा-कांग्रेस को चुनौती:निगम चुनाव में सभी 17 वार्डों में प्रत्याशी उतारने की तैयारी में ग्रामीण संघर्ष समिति

नगर निगम चुनाव - Dainik Bhaskar

नगर निगम चुनाव

  • पंचायत चुनावों से बदले समीकरण
  • शहर के साथ लगते सलोगड़ा जिला परिषद वार्ड में जीता है समिति का प्रत्याशी

सोलन नगर निगम के चुनाव में प्रदेश के दो बड़े राजनीतिक दलों को ग्रामीण संघर्ष समिति से चुनौती मिलने वाली है। समिति नगर निगम के सभी 17 वार्डों से अपने प्रत्याशी उतारने की तैयारी कर रही है। इसके लिए वह आम आदमी पार्टी जैसी दूसरी पार्टियों से भी गठबंधन कर सकती है।

शहर के आसपास की पंचायतों को नगर निगम में मिलाने के खिलाफ बनी ग्रामीण संघर्ष समिति हौसले सलोगड़ा जिला परिषद वार्ड पर जीत से बुलंद है और अब वह नगर निगम में भी चुनौती पेश करने जा रही है। अभी तक सोलन नगर परिषद के चुनावों में भाजपा और कांग्रेस समर्थित सदस्यों का ही कब्जा रहता था।

लेकिन इस बार नगर निगम बनने के बाद परिस्थितियां बदली हैं और नए समीकरण बने हैं। इस बार भी अभी तक यही कयास लगाए जा रहे हैं कि नगर निगम चुनाव में भाजपा और कांग्रेस के बीच ही मुकाबला रहेगा, लेकिन अब ग्रामीण समिति के चुनाव में उतरने से परिणाम प्रभावित होंगे।

इन वार्डों में समिति का प्रभाव

ग्रामीण संघर्ष समिति का आसपास की पंचायतों के लोग शामिल हैं। अब इन आठ पंचायतों के एक या दो वार्ड नगर निगम में मिलाए गए हैं। इससे कई वार्डों में ग्रामीण संघर्ष समिति का प्रभाव भी रहेगा। नगर निगम के 16 और 17 नंबर वार्ड तो नए ही बने हैं। इन दोनों वार्डों में अधिकतर क्षेत्र आंजी, सपरून और बसाल पंचायतों से ही लिया गया है। इन दोनों वार्डों में समिति का प्रभाव है।

इसी तरह वार्ड नंबर- 4,11, 10, 15 में भी पंचायतों के क्षेत्र मिले हैं। शहर के साथ लगते सलोगड़ा जिला परिषद वार्ड में इस बार संघर्ष समिति के महासचिव मनोज वर्मा चुनाव जीते हैं। उन्होंने यहां से पंचायती राज के दिग्गज माने जाने वाले भाजपा की कुमारी शीला और कांग्रेस के बलदेव ठाकुर को हराया है।

पिछले चुनाव में रहा है भाजपा का वर्चस्व
भाजपा को 2015 का इतिहास दौहराने की पूरी उम्मीद है। तब नगर परिषद के हुए चुनाव में 15 में से 10 वार्डों में भाजपा समर्थित जीते थे और अध्यक्ष व उपाध्यक्ष के पदों पर भाजपा समर्थित सदस्य बने थे। इसी तरह कांग्रेस भी भाजपा की नाकामियों को लोगों के बीच ले जाकर नगर निगम के पहले चुनाव में अपना परचम लहराना चाह रही है। इसके लिए रणनीति बनाई जा रही है, लेकिन इन दोनों पार्टियों को चुनौती पेश करने के लिए संघर्ष जोर-शोर से तैयारी कर रही है।

गठबंधन पर भी चल रही है बात: समिति
ग्रामीण संघर्ष समिति के महासचिव मनोज वर्मा ने कहा कि समिति नगर निगम के चुनाव में सभी 17 वार्डों में अपने प्रत्याशी उतारेंगे। उन्होंने कहा कि ग्रामीण बहुल क्षेत्रों से तो पहले ही तैयारी थी, लेकिन अब निगम के अंदरूनी क्षेत्रों से भी लोगों के फोन आ रहे हैं कि वहां से भी समिति अपने प्रत्याशी उतारें। आम आदमी पार्टी जैसे दूसरे दलों से बातचीत हो रही है। गठबंधन पर भी बात चल रही है। यह तय है कि समिति नगर निगम चुनाव में पूरी शिद्दत से उतर रही है।

 

Check Also

सड़क हादसा:रेत भरे ट्रैक्टर की चपेट में आए 2 भाई, 1 की मौत, दूसरा गंभीर

  मृतक। कोनी-बिरकोना मोड़ के पास हुआ हादसा, स्कूटी से स्कूल जा रहे थे स्कूल …