सेहत के लिए बड़े काम की चीज है मुलेठी, लेकिन सेवन का सही तरीका जान लें

नई दिल्ली: स्वाद में मीठी मुलेठी (liquorice) कैल्शियम, ग्लिसराइजिक एसिड, एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटीबायोटिक, प्रोटीन और वसा के गुणों से भरपूर होती है. इसका इस्तेमाल नेत्र रोग, मुख रोग, कंठ रोग, उदर रोग, सांस विकार, हृदय रोग, घाव के उपचार के लिए सदियों से किया जा रहा है. यह दिल व सांस से जुड़ी समस्याओं को कम करने में मदद करती है. आइये जानते हैं इससे मिलने वाले बेहतरीन फायदों के बारे में (health benefits of mulethi).

दिल का रखे ध्यान
आज के समय में लोग दिल से जुड़ी बीमारियों के तेजी से शिकार हो रहें हैं. ऐसे में इसका सेवन करने से शरीर में खून का प्रवाह बेहतर तरीके से होने में मदद मिलती है. यह कोलेस्ट्रोल (cholesterol) लेवल को कंट्रोल कर दिल को स्वस्थ रखने में मदद करता है. ऐसे में हार्ट अटैक (heart attack) आने से भी बचाव रहता है.

वजन हुए वजन को करे कंट्रोल
मुलेठी में भारी मात्रा में पोषक तत्व होने से यह शरीर में जमा एक्सट्रा चर्बी को कम कर वजन घटाने (weight loss) में मदद करती है. ऐसे में जो लोग अपने बढ़े हुए वजन से परेशान है उन्हें अपनी डाइट में मुलेठी को शामिल करना चाहिए.

 

सूखी खांसी से दिलाए राहत 
जिन लोगों को सूखी खांसी की समस्या रहती है, उनके लिए मुलेठी का सेवन करना काफी फायदेमंद साबित होता है. इसके लिए 2- 4 काली मिर्च को 1 मुलेठी के साथ पीस कर तैयार पाउडर का सेवन करने से सूखी खांसी (dry cough) से जल्द ही राहत मिलती है. इसके अलावा आप इसे पानी में उबाल कर भी पी सकते हैं. इसके सेवन से गले में खराश, दर्द, जलन आदि की समस्या से भी निजात मिलेगा.

पेट के अल्सर की परेशानी करे दूर 
ज्यादा तलाभुना, मसालेदार भोजन खाने से पेट के अल्सर की परेशानी का सामना करना पड़ता है. ऐसे में मुलेठी की जड़ के पाउडर को पानी के साथ सेवन करने से फायदा मिलता है. यह इस दौरान शरीर में एसिडिटी, अपच की परेशानी दूर कर पेट में बने अल्सर के के घावों को ठीक करने में मदद करते हैं.

पाचन तंत्र करे दुरुस्त 
किसी भी बीमारी की शुरुआत पेट के खराब होने से होती है. अगर पाचन तंत्र कमजोर होगा तो शरीर बेहतर तरीके से विकास नहीं कर पाएगा. ऐसे में मुलेठी का सेवन करने से पेट से जुड़ी परेशानियां जैसे कि गैस, सूजन, अपच, उल्टी, कब्ज आदि से राहत मिलती है. इसका सेवन करने के लिए एक कप गुनगुने पानी में मुलेठी का पाउडर डालकर उबालें. 1-2 उबाल आने के बाद मिश्रण को हल्का ठंडा कर छन्नी की मदद से छान कर पीएं.

Check Also

कोविड-19 के 80 फीसदी मरीजों में विटामिन डी की कमी का चला पता, शोधकर्ताओं ने किया दावा

विटामिन डी पोषक कोरोना वायरस महामारी के समय अपने निहितार्थ के लिए पहले से ज्यादा …