सीएम ने विधायकों से कहा:अपने क्षेत्र की समस्याओं को उठाएं; कहीं गड़बड़ी दिखे तो सीधे मुझे बताइए, कार्रवाई होगी

सीएम मंगलवार को विधानसभा जाते हुए। - Dainik Bhaskar

सीएम मंगलवार को विधानसभा जाते हुए।

  • विधानमंडल में राज्यपाल के अभिभाषण पर जवाब, आत्मनिर्भर बिहार पर तेजी से काम
  • राज्य में हर क्षेत्र में काम हो रहा, परिणाम भी आ रहे
  • जमीन पर उतरने लगी हैं सात निश्चय पार्ट-2 की योजनाएं

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विधायकों से अपील की है कि वे अपने क्षेत्र की समस्याओं को उठाएं। इसके लिए वे सरकार को पत्र भी भेज सकते हैं। निश्चित रूप से उसके ऊपर कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा कि वे हाथ जोड़कर विधायकों से अपील करते हैं कि वे अपने क्षेत्र की गड़बड़ी को अवश्य सामने लाएं।

सीएम मंगलवार को विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर सरकार का पक्ष रख रहे थे। उन्होंने दावा किया कि बिहार में हर सेक्टर में काम हो रहे हैं और उसके सकारात्मक परिणाम अब सामने भी आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम आत्मनिर्भर बिहार के लिए तेजी से काम कर रहे हैं।

इसके लिए सात निश्चय पार्ट-2 पर काम शुरू हो चुका है। हम सिर्फ घोषणा नहीं करते, काम करते हैं। नीतीश कुमार ने कहा कि कोरोना को लेकर हमने अस्पतालों में भी सारी व्यवस्थाएं की। लोगों को सुविधाएं दीं। उन्हें बेहतर से बेहतर इलाज की सुविधा हर जगह मिले, इसके लिए युद्धस्तर पर प्रयास किया गया।

काेराेना काे लेकर असावधानी न बरतें कोरोना को लेकर सीएम ने तमाम मापदंडों का पालन करने की अपील की। कहा-लोग कंफीडेंट हो गए हैं। उन्हें लग रहा है कि यह खत्म हो गया है। पर, किसी सूरत में किसी स्तर पर कोई असावधानी नहीं होनी चाहिए। हम खुद इसको लेकर बेहद गंभीर है। लगातार मॉनिटरिंग हो रही है।

हर दिन की डाटा देख रहे हैं और उसी हिसाब से निर्देश भी दिया जा रहा है। बिहार में कोरोना को लेकर काफी अच्छा काम हो रहा है। जांच के मामले में राष्ट्रीय औसत 8.4 है तो बिहार की 10 फीसदी से अधिक है। 10 लाख की आबादी पर जांच में हम 21 हजार आगे हैं।

कहीं गड़बड़ी हो जाती है तो तत्काल उसपर कार्रवाई भी होती है। मोबाइल नंबर को लेकर शून्य इसलिए लिखा गया कि बड़ी संख्या में लोगों के पास मोबाइल नहीं हैं। सरकार किसी तरह की गड़बड़ी पर तत्काल कार्रवाई के लिए गंभीर है। लेकिन यह सिर्फ एक की जिम्मेवारी नहीं है। हम सबको इस पर पहल करनी होगी। अपने क्षेत्र की जानकारी दीजिए।

विपक्ष के सवाल पर बोले- क्या एम्स विदेश में है?

हमारी कोशिशों का ही नजीता था कि बिहार का कोरोना रिकवरी रेट 99.20 फीसदी है जबकि राष्ट्रीय औसत 97.33 फीसदी। सूबे में 5 लाख 26 हजार लोगों को टीका लगाया जा चुका है। उन्होंने कोरोना को लेकर विपक्ष के एक-एक सवाल का जवाब दिया। विपक्ष द्वारा एम्स में इलाज करवाने पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि एम्स क्या विदेश का है?

बिहार सबसे तेजी से वृद्धि करने वाला राज्य

सीएम ने कहा कि बिहार सबसे तेजी से वृद्धि करने वाला राज्य है। वर्ष 2019-20 में औसत विकास दर 10.5 फीसदी था। 2004-05 में बिहार का बजट 23 हजार 885 करोड़ का था, आज 2.18 लाख करोड़ का है। 2004-05 में वर्तमान मूल्य पर प्रति व्यक्ति आय मात्र 7914 रुपए थी, आज 50735 रुपए है। आज कोई भूख से नहीं मरता।

निर्माण कार्यों का मेंटेनेंस सरकारी विभाग ही करेंगे

मुख्यमंत्री ने कहा कि नई मेंटेनेंस व्यवस्था में निर्माण कार्यों का मेंटेनेंस सरकारी विभागों को करना है। सड़क आदि का निर्माण कोई एजेंसी करती है तो उसके मेंटेनेंस के लिए विभाग के इंजीनियरों को काम करना होगा। उन्हें सारी चीजें देखनी होंगी। गड़बड़ी होगी तो निश्चित रुप से कार्रवाई होगी। ऐसे मेंटेनेंस के लिए जितनी जरूरत होगी, कर्मियों की नियुक्ति की जाएगी।

 

Check Also

महिला दिवस पर 3 सगी बहनों को डंपर ने रौंदा:किशनगंज में बाइक पर पत्नी और दो सालियों को लेकर जा रहा युवक भी गंभीर, डंपर चालक फरार

  घटनास्थल पर लगी लोगों की भीड़। घटना ठाकुरगंज -खारूदाह मार्ग पर निश्चितपुर गांव के …