Sunday , July 21 2019
Home / Home / सीएमओ का दावा- इस्तीफा देने वाले विधायक भी मौजूद रहेंगे,कुमारस्वामी मंत्रिमंडल की बैठक आज

सीएमओ का दावा- इस्तीफा देने वाले विधायक भी मौजूद रहेंगे,कुमारस्वामी मंत्रिमंडल की बैठक आज

बेंगलुरु. कर्नाटक में राजनीतिक उठापटक के बीच मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने गुरुवार को मंत्रिमंडल की बैठक बुलाई है। मुख्यमंत्री कार्यालय के मुताबिक, बैठक में सभी मंत्री उपस्थित होंगे। क्योंकि उन्होंने अपने पार्टी अध्यक्ष को इस्तीफा सौंपा है, मुख्यमंत्री को नहीं। वहीं, 11 से 14 जुलाई तक बेंगलुरु के विधानसौधा इलाके में धारा 144 लागू की गई है। इस दौरान इलाके में एक जगह चार से अधिक लोग नहीं रह सकते हैं।

कांग्रेस नेता एसटी सोमशेखर बुधवार देर रात वापस बेंगलुरु आ गए। सोमशेखर बेंगलुरु डेवलपमेंट अथॉरिटी (बीडीए) के अध्यक्ष हैं। बीडीए की गुरुवार सुबह बैठक होने वाली है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं यहीं रहूंगा, वापस मुंबई नहीं जा रहा हूं। मैंने विधायकी से इस्तीफा दिया है, लेकिन अभी भी कांग्रेस में हूं।’’

भाजपा विधायकों की गुरुवार को बैठक

पार्टी सूत्रों के मुताबिक, भाजपा नेता बीएस येदियुप्पा ने पार्टी के सभी विधायकों की गुरुवार को बैठक बुलाई है। बैठक में हाल के राजनीतिक घटनाक्रम में विधायकों के इस्तीफे के बाद उनकी सदस्यता और अन्य संबंधित मुद्दों पर चर्चा होने की संभावना है। कांग्रेस और जेडीएस के विधायकों के इस्तीफे की स्वीकृति में देरी पर येदियुरप्पा ने कहा कि यह मामला गुरुवार को शीर्ष अदालत के समक्ष आएगा और इसके बाद सभी अनिश्चितताओं के खत्म होने की संभावना है।

विरोधियों को शर्म आनी चाहिए- शिवकुमार

इससे पहले बुधवार को कर्नाटक सरकार में मंत्री और कांग्रेस नेता डी शिवकुमार बुधवार को बागी विधायकों से मिलने मुंबई के रेनेसां होटल पहुंचे थे। लेकिन, पुलिस ने उन्हें मिलने नहीं दिया। उन्हें जबरन बेंगलुरु भेज दिया गया। इस पर उन्होंने कहा कि भाजपा और मुंबई पुलिस को शर्म आनी चाहिए। यह सब भाजपा के इशारे पर हो रहा है। मुझे अपने दोस्तों और सहयोगियों से मिलने नहीं दिया गया। मुझे पुरा विश्वास है कि सभी असंतुष्ट विधायक जल्द वापसी करेंगे।

बागी विधायकों की याचिका पर गुरुवार को सुनवाई

वहीं, इस्तीफा स्वीकार नहीं किए जाने पर बागी विधायकों ने कर्नाटक विधानसभा के स्पीकर रमेश कुमार के खिलाफ याचिका दाखिल की थी। इस मामले पर गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हो सकती है। बुधवार को विधायकों ने स्पीकर पर आरोप लगाया था कि रमेश कुमार अपने संवैधानिक कर्तव्यों का पालन नहीं कर रहे हैं। वह जानबूझकर इस्तीफे की स्वीकृति में देरी लगा रहे हैं। वहीं, बुधवार को कांग्रेस के दो और विधायकों के सुधाकर और एमटीबी नागराज ने इस्तीफा दे दिया। यह जानकारी स्पीकर रमेश कुमार ने दी। उन्होंने कहा कि विधायकों के मामले में कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी। सभी व्यक्तियों के लिए कानून एक समान है।

बागी विधायकों ने सुरक्षा मांगी थी

बुधवार को डी शिवकुमार के मुंबई आने की खबर के बाद बागी विधायकों ने पुलिस को पत्र लिखकर सुरक्षा की मांग की थी और मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी और शिवकुमार से खतरा बताया था। विधायकों से नहीं मिलने दिए जाने पर शिवकुमार ने कहा कि मुंबई अपने आतिथ्य सत्कार के लिए जानी जाती है। मैंने यहां के होटल में कमरा बुक किया था। यहां अपने दोस्तों और सहयोगियों से मिलने आया था। लेकिन भाजपा और अधिकारियों ने अपने अधिकारों का गलत इस्तेमाल किया। उन्हें शर्म आनी चाहिए।

कांग्रेस के 13 और जेडीएस के 3 विधायकों ने दिया इस्तीफा
उमेश कामतल्ली, बीसी पाटिल, रमेश जारकिहोली, शिवाराम हेब्बर, एच विश्वनाथ, गोपालैया, बी बस्वराज, नारायण गौड़ा, मुनिरत्ना, एसटी सोमाशेखरा, प्रताप गौड़ा पाटिल, मुनिरत्ना और आनंद सिंह इस्तीफा सौंप चुके हैं। वहीं, कांग्रेस के निलंबित विधायक रोशन बेग ने भी मंगलवार को इस्तीफा दे दिया। बुधवार को के सुधाकर, एमटीबी नागराज ने इस्तीफा दिया।

16 विधायकों के इस्तीफे के बाद क्या होगी स्थिति?
कांग्रेस-जेडीएस के 16 विधायकों ने स्पीकर को इस्तीफा दे दिया। अगर इन विधायकों के इस्तीफे स्वीकार होते हैं तो विधानसभा में कुल 208 सदस्य रह जाएंगे। विधानसभा अध्यक्ष को छोड़कर ये संख्या 207 रह जाएगी। ऐसे में बहुमत के लिए 104 विधायकों की जरूरत होगी। कुमारस्वामी सरकार के पास केवल 100 विधायकों का समर्थन रह जाएगा। ऐसे में सरकार अल्पमत में आ जाएगी।

Loading...

Check Also

मिलावटी दूध से संदेह के घेरे में खाद्य अफसरों की भूमिका

भोपाल : मिलावटी दूध पकड़े जाने के बाद घरों तक पहुंच रहे सफेद जहर ने ...