सियासत और रोजगार:डॉ रमन ने कहा डीएड संघ के अध्यक्ष हिरासत में, कांग्रेस ने बताया झूठ; शिक्षक बोले- पुलिस की धमकी से टालना पड़ा आंदोलन

 

दोपहर बाद शिक्षामंत्री ने शिक्षकों को मिलने का वक्त दिया और मुख्यमंत्री से चर्चा के बाद आगे की जानकारी देने का आश्वासन - Dainik Bhaskar

दोपहर बाद शिक्षामंत्री ने शिक्षकों को मिलने का वक्त दिया और मुख्यमंत्री से चर्चा के बाद आगे की जानकारी देने का आश्वासन

मंगलवार को छत्तीसगढ़ के प्रशिक्षित डीएड-बीएड संघ का रायपुर में धरना प्रदर्शन रैली का कार्यक्रम तय था मगर ये हो न सका। दरअसल सोमवार रात से ये खबर वायरल होने लगी कि इस संघ के प्रदेश अध्यक्ष दाउद खान को पुलिस ने विरोध प्रदर्शन से पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया है। प्रदेश के पूर्व CM डॉ रमन सिंह ने अपने ट्वीटर पर इस गिरफ्तारी का जिक्र किया। सुबह इस मामले में खूब चर्चा हुई, कांग्रेस ने डॉ रमन सिंह के दावे झूठा बताया। मगर दूसरी तरफ डीएड बीएड संघ के लोगों ने ये बात कबूली कि पुलिस की धमकी से हमें आंदोलन स्थगित करना पड़ा है।

डॉ रमन सिंह का ट्वीट

कांग्रेस का जवाब

पांच लोग मिले शिक्षा मंत्री से
दोपहर इस बात को लेकर असमंजस रहा कि शिक्षकों का धरना होगा या नहीं वो गिरफ्तार हुए हैं या नहीं। इसके बाद शिक्षक संघ के लोगों ने सामने आकर कहा हमें गिरफ्तार नहीं किया गया है। रायपुर के कलेक्टोरेट गार्डन में एक मीटिंग के बाद दो बजे 5 लोगों का प्रतिनिधी मंडल शिक्षा मंत्री से मिलने पहुंचा। किसी तरह का हंगामा न हो ये पक्का करने के लिए शहर के एडिशनल एसपी लखन पटले खुद मौजूद थे। संघ के सदस्य आकाश वर्मा ने बताया कि शिक्षा मंत्री ने दो दिनों का समय मांगा है वो शिक्षकों की भर्ती को लेकर CM भूपेश बघेल से चर्चा के बाद तारीख का एलान करेंगे, जिसमें चुने हुए शिक्षकों की नियुक्ति की प्रक्रिया होगी।

14 हजार 580 शिक्षकों का पूरा मामला
करीब ढाई साल से नौकरी दिए जाने की मांग ये संघ कर रहा है। संगठन के प्रमुख दाउद खान ने बताया कि प्रदेश में 14 हजार 580 शिक्षकों का चयन हो चुका है मगर भर्ती नहीं हो रही। इससे पहले सभी शिक्षक किसी न किसी प्राइवेट स्कूल में नौकरी कर रहे थे, सभी ने इस आस में नौकरी छोड़ दी कि उन्हें सरकार की तरफ से रोजगार मिलना था। अब कोई दूसरी नौकरी इसलिए नहीं मिलती क्योंकि ये उम्मीदवार चयनित हैं, लॉकडाउन में सभी शिक्षकों की माली हालत और भी खराब हो गई मगर सरकार ने ध्यान नहीं दिया।

पुलिस के अफसरों ने कहा- आंदोलन किया तो कहीं नौकरी नहीं मिलेगी
सोमवार रात को दाउद खान समेत शिक्षक संघ के सभी जिलों के पदाधिकारियों को रायपुर पुलिस के अफसरों ने धमकाया। अधिकारियों ने प्रदर्शन की तैयारी में जुटे शिक्षकों से कह दिया रैली, धरना कोविड प्रोटोकॉल के तहत बैन है, अगर आंदोलन किया तो वो हाल करेंगे कि कहीं नौकरी नहीं मिलेगी

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

एम्स दिल्ली में कल से 6-12 साल के बच्चों के लिए COVAXIN का ट्रायल

कोरोना वायरस महामारी के मामलों में गिरावट का दौर बरकरार है. लगातार संक्रमण के नए …