सर्वार्थ सिद्धि समेत शुभ मुहूर्त में करें भगवान शिव की पूजा तो मिलेगा धन वैभव का लाभ

 

 पंचांग के अनुसार हर मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को शिवरात्रि मनाई जाती है. कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि अर्थात शिवरात्रि को भगवान शिव की विधि विधान से पूजा करते हैं. चूंकि कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि हर माह में होती है, इस लिए इसे मासिक शिवरात्रि कहते हैं. शिव भक्तों के लिए मासिक शिवरात्रि का दिन बेहद खास होता है. शिव भक्त इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती की विधि-पूर्वक उपासना करते हैं. धार्मिक मान्यता है कि मासिक शिवरात्रि के दिन व्रत करके उपासना-आराधना करने वालों पर भगवान शिवशंकर भोलेनाथ अपनी कृपा बरसाते हैं. इनकी कृपा से भक्तों की मनोकामनाएं पूरी होती हैं. उन्हें कभी धन-वैभव का अभाव नहीं होता है.

आज के शुभ मुहूर्त 

    • सर्वार्थ सिद्धि योग – सुबह 05 बजकर 36 मिनट से अगली सुबह 05 बजकर 23 मिनट तक
    • अभिजित मुहूर्त – दोपहर 11 बजकर 52 मिनट से 12 बजकर 48 मिनट तक.
    • विजय मुहूर्त – दोपहर 02 बजकर 39 मिनट से 03 बजकर 35 मिनट तक.
    • निशीथ काल – मध्यरात्रि 12 बजे से 12 बजकर 40 मिनट तक.
    • गोधूलि बेला – शाम 07 बजकर 04 मिनट से 07 बजकर 28 मिनट तक.

कब होता है मासिक शिवरात्रि पर्व

प्रत्येक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मासिक शिवरात्रि मनाई जाती है. मौजूदा समय में हिंदी कैलेंडर के अनुसार, ज्येष्ठ मास और अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार जून माह चल रहा है. मासिक शिवरात्रि इस बार 8 जून, मंगलवार को है. यह तिथि भगवान शिव को समर्पित होती है.

मासिक शिवरात्रि का महत्त्व

धार्मिक मान्यता है कि भगवान शिव की कृपा से भक्तों के बिगड़े काम बन जाते हैं. जिन भक्तों की शादियां नही हुई रहती हैं, इनकी कृपा से उनके विवाह संबंधी दिक्कतें दूर होती हैं. शिव पुराण में कहा गया है कि चतुर्दशी तिथि को व्रत रखने से भगवान शिव शुभ फल देते हैं.

NEWS KABILA

Check Also

22 जून को शुक्र करेंगे कर्क राशि में प्रवेश, जानिए कैसा रहेगा मार्केट का हाल

धन, ऐश्वर्य, सुंदरता, भौतिक सुख आदि देने वाले शुक्र ग्रह 22 जून को मिथुन राशि …