शेयर बाजार में पैसा लगाने वाले हो जाएं सावधान, खुद को सेबी का अधिकारी बता जालसाज निवेशकों को ऐसे लगा रहे चूना

शेयर बाजार (Stock Market) में निवेश करने वालों के लिए बड़ी खबर है. बाजार नियामक सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (Sebi) ने धोखाधड़ी करने वालों को लेकर लोगों को आगाह किया है. उसने कहा कि धोखाधड़ी करने वाले खुद को सेबी का अधिकारी बता रहे हैं और लोगों की शिकायतों को समाधान के लिए उनसे पैसे की मांग कर रहे हैं. Sebi के नाम पर निवेशकों और लोगों के साथ ठगी करने वाले ऐसे धोखेबाजों को नियामक ने संज्ञान में लिया है. नियामक ने निवेशकों और आम लोगों को ऐसे धोखेबाजों को लेकर आगाह किया है.

सेबी ने एक बयान में कहा, इन धोखेबाजों ने कथित रूप से सेबी की आधिकारिक वेबसाइट की तरह दिखने वाली फर्जी वेबसाइट के जरिये गलत तरीके से ई-मेल भेजकर स्वयं को सेबी का अधिकारी/कर्मचारी बताकर निवेशकों की शिकायतों के समाधान के लिये मदद की पेशकश की है.

सेबी के कर्मचारी के नाम से आने वाले ई-मेल को लेकर सतर्क रहें

नियामक के मुताबिक, निवेशकों से प्रसंस्करण शुल्क, अन्य शुल्क आदि के नाम पर पैसे मांगे जाते हैं. सेबी ने कहा कि निवेशकों को ऐसे जालसाजों से सतर्क रहने की सलाह दी जाती है. सेबी के कर्मचारी के नाम से आने वाले ई-मेल को लेकर सतर्क रहें और ऐसे ई-मेल का जवाब नहीं दें.

यहां दर्ज करा सकते हैं अपनी शिकायतें

नियामक के अनुसार, सेबी की आधिकारिक वेबसाइट- https:cores.gov.in है. निवेशक इस पर अपनी शिकायतें दर्ज करा सकते हैं. लोगों को सलाह दी जाती है कि वे सावधान रहे और इससे मिलती-जुलती फर्जी वेबसाइट से आने वाले ई-मेल से गुमराह न हों.

ऑर्डर कैंसिल करने की गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए नया नियम लागू

शेयर बाजार में धोखाधड़ी या स्पूफिंग में खरीद या बिक्री ऑर्डरों पर अंकुश के लिए सेबी के नए नियम लागू हो गए हैं. नए नियमों के तहत यदि कोई व्यक्ति बार-बार इस तरह की हरकतों को दोहराता है, तो उसके कारोबार को 15 मिनट से 2 घंटे तक रोका जा सकता है. स्पूफिंग में शेयर कारोबारी बड़ी संख्या में खरीद या बिक्री ऑर्डर करते हैं. लेकिन इन ऑर्डरों के क्रियान्वयन से पहले ही वे इसे कैंसिल कर देते हैं.

Check Also

कोरोना के खिलाफ जंग, सरकारी खरीद के नियमों में किया गया बदलाव

नई दिल्ली : कोरोना जैसी जानलेवा बीमारी का मुकाबला करने के लिए केंद्र सरकार ने …