शिवराज ने नाथ को रावण जैसा मायावी बताया, कमलनाथ बोले- जनता आपको फिर से घर बिठाएगी

 

मध्य प्रदेश उपचुनावों में जुबानी जंग चरम पर है। पूर्व सीएम कमलनाथ और सीएम शिवराज एक-दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं।

  • मुख्यमंत्री शिवराज और पूर्व सीएम कमलनाथ ने ग्वालियर चंबल की सभाओं में एक-दूसरे पर लगाए आरोप
  • उपचुनाव की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आ रही है, भाजपा और कांग्रेस नेताओं के बीच आरोप-प्रत्यारोप बढ़ रहे

मध्य प्रदेश में उपचुनाव में जुबानी जंग बढ़ती जा रही है। शनिवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ग्वालियर चंबल में चुनावी सभाएं कीं। यहां पर दोनों नेताओं ने एक-दूसरे पर जमकर आरोप लगाए हैं। शिवराज ने नाथ को रावण जैसा मायावी बताते हुए कहा कि ‘पहले किसानों की कर्जमाफी का मायाजाल बुना। इस बार फिर से जाल बिछाएंगे, लेकिन इनकी माया में मत आना।’ वहीं कमलनाथ बोले- जनता आपको 2018 में ही पहचान लिया था, इस बार फिर से घर बिठाएगी।

मुरैना के अंबाह और ग्वालियर में सभाएं करने पहुंचे सीएम शिवराज ने कहा, “मायावी रावण भी था और उसने माता सीता का हरण करने के लिए कैसी माया रची? उस मायावी के चक्कर में माता सीता आ गईं थी और उनका हरण हो गया था, इसलिए इस बार कांग्रेसियों के कहने में नहीं आना है। हम अब युवाओं के लिए सरकारी भर्तियां निकाल रहे हैं तो कमलनाथ ट्वीट करके कह रहे हैं कि यह सब हमारे वचन पत्र में था। और सरकार में रहते तो हम भी भर्तियां करते, लेकिन जब मुख्यमंत्री थे तब तो कुछ किया नहीं और अब कह रहे हैं कि हम भी करते।”

शिवराज ने अंबाह में कहा कि ‘आज अष्टमी है। माता रानी प्रदेश एवं प्रदेशवासियों के लिए सुख-समृद्धि, रिद्धि-सिद्धि लाए, सबका कल्याण करें। फिर कहा कि हम नवरात्रि में मातारानी की आराधना करते हैं, उन्हें पूजते हैं, लेकिन प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ तो उनका अपमान कर रहे हैं। उन्हें अपशब्द कह रहे हैं और फिर माफी भी नहीं मांगते हैं।’

‘जनता से परमानेंट सीएम बनाने के लिए वोट मांग रहे हैं शिवराज’

भिंड के मेहगांव और मुरैना में सभा करने पहुंचे पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा, ‘शिवराज जी आज सभाओं में लोगों से कह रहे हैं कि मैं अभी टेंपरेरी मुख्यमंत्री मुझे परमानेंट मुख्यमंत्री बनाओ तो शिवराज जी जनता ने तो आपको पूरे 15 वर्ष परमानेंट मुख्यमंत्री बनाए रखा, आपने तो प्रदेश को बर्बाद कर दिया, विकास की दृष्टि से पीछे धकेल दिया। अब जनता धोखा खाने वाली नहीं है। वह आपको फिर से घर बैठायेगी। जनता ने आपको 2018 में ही पहचान लिया था।’

कमलनाथ- चंबल से गद्दारी करने वाले को माफ नहीं किया जाता
कमलनाथ ने कहा कि ‘चंबल वीरों की भूमि है, मैं उसे नमन करता हूं। यहां के लोग बड़ी संख्या में सेना में शामिल सीमा पर देश की सुरक्षा की जिम्मेदारी निभा रहे हैं। यहां का खून गर्म है, वह लड़ सकता है। लेकिन बिक नहीं सकता। यहां के पानी की तासीर में बगावत है लेकिन गद्दारी नहीं। जिसने चंबल से गद्दारी की, उसे चंबल कभी माफ नहीं करता। भाजपा ने सौदेबाजी कर प्रदेश को देश भर में कलंकित किया है, बदनाम किया है। ग्वालियर-चंबल के लोग और प्रदेश की जनता इस अपमान का व कलंक का बदला जरूर लेगी। हम चंबल घाटी के शहीदों की याद में भव्य शहीद स्मारक बनाएंगे।’

 

Check Also

एक हाथ से किक्रेट खेलने वाले MP के आलराउंडर माखन का दुबई में होने वाली दिव्यांग प्रीमियर लीग के लिए चयन

  माखनसिंह का दुबई में होने वाले दिव्यांग प्रीमियर लीग के लिए चयन उज्जैन के …