वो हमेशा कहता था कि महिलाओं की जगह पुरुषों की आंखों पर पर्दा होना चाहिए : जेमिमा गोल्डस्मिथ

दिल्ली। अश्लीलता, अश्लीलता रोकने की कवायद, धार्मिक मान्यताओं के बीच पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की पहली बीवी ने एक सटीक टिप्पणी किया है। उन्होंने टिप्पणी के साथ कुरान की आयतों को भी साक्ष्य के रूप में प्रस्तुत किया है। इमरान खान ने पाकिस्तान में यौन हिंसा बढ़ने के लिए अश्लीलता को जिम्मेदार ठहराया था। इमरान टेली कॉन्फ्रेंसिंग से लोगों की समस्याओं को सुन रहे थे। इमरान खान की एक टिप्पणी की काफी आलोचना हो रही है। इमरान ने कहा था कि इस्लाम में पर्दे की व्यवस्था इसीलिए की गई है ताकि लोगों की बुरी नजरों से महिलाओं को बचाया जा सके। इमरान की पूर्व पत्नी जेमिमा गोल्डस्मिथ ने भी इसे लेकर ट्वीट किया है। कॉलर ने इमरान से पूछा था कि ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए सरकार क्या कर रही है। इस पर इमरान ने जवाब दिया कि कुछ लड़ाइयां ऐसी होती हैं जिन्हें कानूनों से नहीं जीता जा सकता। इमरान ने कहा कि समाज को खुद को फहाशी, अश्लीलता से बचाना होगा। इमरान ने कहा कि रेप और यौन हिंसा के अपराध समाज में ‘कैंसर की तरह’ फैल रहे हैं। इसका प्रतिशत एक फीसदी है।

imran khan jemaima

 

इमरान ने कहा कि जब भी समाज में अश्लीलता बढ़ती है तो दो चीजें होती हैं- सेक्स अपराध बढ़ते हैं और फैमिली सिस्टम टूटता है। इस्लाम में पर्दा प्रथा इसीलिए है कि ‘टेम्पटेशन पर काबू रखा जा सके। इमरान के मुताबिक कई लोग होते हैं जो अपनी इच्छाशक्ति पर काबू नहीं रख पाते हैं। इमरान ने सत्तर के दशक में इंग्लैंड में क्रिकेट खेलने के दिनों का जिक्र किया। इमरान ने कहा कि उस वक्त इंग्लैंड में ‘सेक्स, ड्रग्स और रॉक एन रोल’ कल्चर बढ़ गया था। इमरान खान की इन टिप्पणियों पर पूर्व पत्नी जेमिमा खान ने कहा है कि ऐसे अपराधों को रोकने का दायित्व पुरुषों पर है। जेमिमा ने इसके साथ कुरान की आयत का भी जिक्र किया जिसमें पुरुषों से अपनी इन्द्रियों को काबू में रखने की बात कही गई है। जेमिमा ने लिखा कि समस्या महिलाओं के पहनावे में नहीं है।

imran khan jemaima

जेमिमा ने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि मैं उम्मीद कर रही हूं कि ये कोई गलतफहमी या अनुवाद की गलती हो। मैं जिस इमरान खान को जानती थी, वो हमेशा कहता था कि महिलाओं की जगह पुरुषों की आंखों पर पर्दा होना चाहिए। जेमिमा इमरान खान की पहली पत्नी थीं और उनकी शादी साल 1995 में हुई थी। साल 2004 में दोनों का तलाक हो गया। जेमिमा और इमरान खान के दो बच्चे भी हैं। इस बीच पाकिस्तान सरकार के एक प्रवक्ता ने सफाई दी है कि प्रधानमंत्री इमरान खान के बयान के गलत अर्थ निकाले जा रहे हैं। पीएम समाज की प्रतिक्रियाओं पर बोल रहे थे और उन्होंने रेप जैसी बुराई को पूरी तरह खत्म करने के लिए सबके मिलकर काम करने पर जोर दिया।

दिल्ली। अश्लीलता, अश्लीलता रोकने की कवायद, धार्मिक मान्यताओं के बीच पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की पहली बीवी ने एक सटीक टिप्पणी किया है। उन्होंने टिप्पणी के साथ कुरान की आयतों को भी साक्ष्य के रूप में प्रस्तुत किया है। इमरान खान ने पाकिस्तान में यौन हिंसा बढ़ने के लिए अश्लीलता को जिम्मेदार ठहराया था। इमरान टेली कॉन्फ्रेंसिंग से लोगों की समस्याओं को सुन रहे थे। इमरान खान की एक टिप्पणी की काफी आलोचना हो रही है। इमरान ने कहा था कि इस्लाम में पर्दे की व्यवस्था इसीलिए की गई है ताकि लोगों की बुरी नजरों से महिलाओं को बचाया जा सके। इमरान की पूर्व पत्नी जेमिमा गोल्डस्मिथ ने भी इसे लेकर ट्वीट किया है। कॉलर ने इमरान से पूछा था कि ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए सरकार क्या कर रही है। इस पर इमरान ने जवाब दिया कि कुछ लड़ाइयां ऐसी होती हैं जिन्हें कानूनों से नहीं जीता जा सकता। इमरान ने कहा कि समाज को खुद को फहाशी, अश्लीलता से बचाना होगा। इमरान ने कहा कि रेप और यौन हिंसा के अपराध समाज में ‘कैंसर की तरह’ फैल रहे हैं। इसका प्रतिशत एक फीसदी है।

imran khan jemaima

 

इमरान ने कहा कि जब भी समाज में अश्लीलता बढ़ती है तो दो चीजें होती हैं- सेक्स अपराध बढ़ते हैं और फैमिली सिस्टम टूटता है। इस्लाम में पर्दा प्रथा इसीलिए है कि ‘टेम्पटेशन पर काबू रखा जा सके। इमरान के मुताबिक कई लोग होते हैं जो अपनी इच्छाशक्ति पर काबू नहीं रख पाते हैं। इमरान ने सत्तर के दशक में इंग्लैंड में क्रिकेट खेलने के दिनों का जिक्र किया। इमरान ने कहा कि उस वक्त इंग्लैंड में ‘सेक्स, ड्रग्स और रॉक एन रोल’ कल्चर बढ़ गया था। इमरान खान की इन टिप्पणियों पर पूर्व पत्नी जेमिमा खान ने कहा है कि ऐसे अपराधों को रोकने का दायित्व पुरुषों पर है। जेमिमा ने इसके साथ कुरान की आयत का भी जिक्र किया जिसमें पुरुषों से अपनी इन्द्रियों को काबू में रखने की बात कही गई है। जेमिमा ने लिखा कि समस्या महिलाओं के पहनावे में नहीं है।

imran khan jemaima

जेमिमा ने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि मैं उम्मीद कर रही हूं कि ये कोई गलतफहमी या अनुवाद की गलती हो। मैं जिस इमरान खान को जानती थी, वो हमेशा कहता था कि महिलाओं की जगह पुरुषों की आंखों पर पर्दा होना चाहिए। जेमिमा इमरान खान की पहली पत्नी थीं और उनकी शादी साल 1995 में हुई थी। साल 2004 में दोनों का तलाक हो गया। जेमिमा और इमरान खान के दो बच्चे भी हैं। इस बीच पाकिस्तान सरकार के एक प्रवक्ता ने सफाई दी है कि प्रधानमंत्री इमरान खान के बयान के गलत अर्थ निकाले जा रहे हैं। पीएम समाज की प्रतिक्रियाओं पर बोल रहे थे और उन्होंने रेप जैसी बुराई को पूरी तरह खत्म करने के लिए सबके मिलकर काम करने पर जोर दिया।

Check Also

नहीं रहे जिम्मी कार्टर के दोस्त:अमेरिका के पूर्व उपराष्ट्रपति वॉल्टर फ्रिट्ज मोंडेल का 93 साल की उम्र में निधन, मेट्रोपोलिस शहर स्थित घर में ली अंतिम सांस

1977 से 1981 के बीच जिम्मी कार्टर सरकार में वॉल्टर फ्रिट्ज मोंडेल उपराष्ट्रपति थे। (फाइल …