विधवा के श्राप के कारण 17 साल से खाली पड़ा है ये आलीशान महल, मुफ्त में भी खरीदने को तैयार नहीं हैं लोग

अगर आपको लगता है कि अन्धविश्वास और श्राप जैसी चीजें सिर्फ भारत में मानी जाती हैं तो आप गलत हैं। दुनिया में ऐसे कई लोग हैं जो प्रॉपर्टी आदि खरीदने से पहले उसकी हिस्ट्री चेक करते हैं। अगर उसमें उन्हें कुछ गड़बड़ नजर आती है, तो वो प्रॉपर्टी खरीदने से पीछे हट जाते हैं। ऐसे ही एक श्राप की चर्चा के कारण यॉर्कशायर में बना एक आलिशान महल बीते 17 सालों से बंद पड़ा है। कहते हैं कि इसके अंदर जाते ही खुशियां मर जाती हैं। इंसान की जिंदगी में दुःख के पहाड़ टूट पड़ते हैं। इस कारण कोई भी इस घर को खरीद नहीं रहा है।

17 साल पहले इस घर के मालिक ने इसे जिस हाल में छोड़ा था, ये आज भी उसी हाल में मौजूद है। घर के अंदर जाने पर ऐसा लगता है जैसे हम 17 साल पीछे चले आए हैं।

<p><br />
फोटोग्राफर ने इसकी तस्वीरें लोगों के सामने रखी हैं। अब इस घर की दीवारों में पेड़ उगने लगे हैं। साथ ही घर में धूल और मकड़ी के जाले इसे भूतिया लुक देने लगे हैं। </p>

फोटोग्राफर ने इसकी तस्वीरें लोगों के सामने रखी हैं। अब इस घर की दीवारों में पेड़ उगने लगे हैं। साथ ही घर में धूल और मकड़ी के जाले इसे भूतिया लुक देने लगे हैं।

<p>सोशल मीडिया प्लेटफार्म फेसबुक पर लॉस्ट प्लेसेस फॉरगॉटेन फेसेस नाम के पेज पर इस घर की तस्वीरें शेयर की गई है। घर को देखकर आपको अहसास होगा कि आप 17 साल पीछे पहुंच गए हैं।   </p>

सोशल मीडिया प्लेटफार्म फेसबुक पर लॉस्ट प्लेसेस फॉरगॉटेन फेसेस नाम के पेज पर इस घर की तस्वीरें शेयर की गई है। घर को देखकर आपको अहसास होगा कि आप 17 साल पीछे पहुंच गए हैं।

<p>घर के दरवाजों से अभी भी कोट टंगे हुए हैं। इनपर धुल की मोटी परत बैठी है। वहीं बाथरूम में चीजें सालों पहले इस्तेमाल कर जैसे छोड़ी गई थी, उसी हाल में है। </p>

घर के दरवाजों से अभी भी कोट टंगे हुए हैं। इनपर धुल की मोटी परत बैठी है। वहीं बाथरूम में चीजें सालों पहले इस्तेमाल कर जैसे छोड़ी गई थी, उसी हाल में है।

<p>यॉर्कशायर लाइव की रिपोर्ट के मुताबिक, ये घर  जिस शख्स का था, उसकी मौत के बाद उसकी विधवा यहां अकेली रहती थी। लेकिन पति के गम में रोते-रोते उसने जान दे दी। </p>

यॉर्कशायर लाइव की रिपोर्ट के मुताबिक, ये घर  जिस शख्स का था, उसकी मौत के बाद उसकी विधवा यहां अकेली रहती थी। लेकिन पति के गम में रोते-रोते उसने जान दे दी।

<p> 2003 में उसकी मौत के बाद से ये घर वीरान है। यहां कोई भी नहीं जाता है। ऐसा लगता है मानो घर में हर तरफ मनहूसियत छाई हुई है। </p>

 2003 में उसकी मौत के बाद से ये घर वीरान है। यहां कोई भी नहीं जाता है। ऐसा लगता है मानो घर में हर तरफ मनहूसियत छाई हुई है।

<p>महिला का इकलौता बेटा अब इस घर का मालिक है। लेकिन वो बाहर रहता है। इस कारण उसने घर को बेचने का फैसला किया। लेकिन कोई भी इस मनहूस घर को खरीदने में दिलचस्पी नहीं दिखा रहा। </p>

महिला का इकलौता बेटा अब इस घर का मालिक है। लेकिन वो बाहर रहता है। इस कारण उसने घर को बेचने का फैसला किया। लेकिन कोई भी इस मनहूस घर को खरीदने में दिलचस्पी नहीं दिखा रहा।

<p>अब उम्मीद जताई जा रही है कि शायद तस्वीरों को देखने के बाद कोई इसे खरीदने को तैयार होगा। लेकिन कई लोगों ने इसपर नेगेटिव कमेंट देते हुए इसे भूतिया और मनहूस बताया है। <br />
</p>

अब उम्मीद जताई जा रही है कि शायद तस्वीरों को देखने के बाद कोई इसे खरीदने को तैयार होगा। लेकिन कई लोगों ने इसपर नेगेटिव कमेंट देते हुए इसे भूतिया और मनहूस बताया है।

<p>कुछ लोगों ने इसे  खरीदने में दिलचस्पी दिखाई थी लेकिन  अंदर आने के बाद उन्हें मनहूसियत का अहसास हुआ जिसके बाद उन्होंने घर खरीदने का प्लान ड्राप कर दिया। </p>

कुछ लोगों ने इसे  खरीदने में दिलचस्पी दिखाई थी लेकिन  अंदर आने के बाद उन्हें मनहूसियत का अहसास हुआ जिसके बाद उन्होंने घर खरीदने का प्लान ड्राप कर दिया।

<p>अब देखना है कि विधवा के श्राप के कारण कब तक ये घर ऐसे ही सुनसान पड़ा रहेगा। अभी तक इसे ख़रीदने के लिए किसी ने भी दिलचस्पी नहीं दिखाई है। <br />
</p>

अब देखना है कि विधवा के श्राप के कारण कब तक ये घर ऐसे ही सुनसान पड़ा रहेगा। अभी तक इसे ख़रीदने के लिए किसी ने भी दिलचस्पी नहीं दिखाई है।

Check Also

दावा: मिल गया वो ग्रह जिसपर मौजूद है पानी, NASA से जताया यकीन- इसपर जिंदगी पक्की है

लंबे समय से दुनिया के वैज्ञानिक ऐसे ग्रह की तलाश में है, जहां जिंदगी पॉसिबल …