‘विटामिन डी’ की कमी से होने वाले नुक़सान और उसके सेवन के फायदे!

विटामिन डी में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं।विटामिन डी की कमी को मुंहासों से भी जोड़ा जाता है।विटामिन डी अवसाद यानी डिप्रेशन के लक्षणों को कम करने में भी मददगार है

 

विटामिन डी आपकी सेहत के लिए बहुत जरूरी है। यह विटामिन मुख्य रूप से स्वस्थ हड्डियों और दांतों के लिए बेहद जरूरी होता है, क्योंकि आहार से लिए गए कैल्शियम के अवशोषण में विटामिन डी ही मदद करता है। विटामिन डी आपकी प्रतिरक्षा यानी इम्यूनिटी के लिए भी अच्छा है और बीमारियों से लड़ने में मदद कर सकता है। विटामिन डी आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा है। कई अध्ययनों इस बात की ओर इशारा कर चुके हैं कि विटामिन डी अवसाद यानी डिप्रेशन के लक्षणों को कम करने में भी मददगार है। विटामिन डी की हमारे शरीर का जरूरत क्यों होती है या विटामिन डी का शरीर में क्या काम है। यह सवाल अक्सर पूछा जाता है।

हड्डियों के अलावा विटामिन डी आपकी त्वचा की देखभाल के लिए भी जरूरी है। विटामिन डी का स्तर आपकी त्वचा के स्वास्थ्य को भी प्रभावित कर सकता है। आप अपनी त्वचा पर विटामिन डी की कमी के कई लक्षण देख सकते हैं जैसे सूखी त्वचा, त्वचा पर चकत्ते, मुंहासे या उम्र बढ़ने के संकेत। मुंहासे त्वचा की एक आम समस्या है। विटामिन डी के स्तर और मुंहासे क्या संबंध है यह सवाल यकीनन आपके मन में आया होगा, तो पता करते हैं कि क्या विटामिन डी मुंहासे रोकने में मदद कर सकता है? 

 

क्या विटामिन डी कम करता है मुंहासे।

विटामिन डी में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो आपकी त्वचा के लिए फायदेमंद होते हैं। विटामिन डी के एंटी-बैक्टीरियल गुण उन बैक्टीरिया से लड़ने में मदद कर सकते हैं, जो मुंहासे पैदा कर रहे हैं। मुंहासे से सूजन भी होती है, जिसे विटामिन डी से नियंत्रित किया जा सकता है। कई कारक मुंहासे में योगदान कर सकते हैं और कई इसे बदतर बना सकते हैं। विटामिन डी की कमी को मुंहासों से भी जोड़ा जाता है।

विटामिन डी की कमी के कारण मुंहासे हो सकते हैं।

व‍िटामिन डी के स्रोत 

सूर्य का प्रकाश विटामिन डी का सबसे अच्छा स्रोत है। सूर्य के प्रकाश के संपर्क में आने पर आपका शरीर विटामिन डी लेतता है। सूर्य के प्रकाश से विटामिन डी प्राप्त करने के लिए आप सूरज की रौशनी 10-15 मिनट तक बैठ सकते हैं। गर्मी के लिए अपने आप को अधिक समय तक उजागर न करें।

कई खाद्य पदार्थ भी विटामिन डी से भरपूर होते हैं, जिनके बारे में जानकारी नहीं है।

कई खाद्य पदार्थ भी विटामिन डी से भरपूर होते हैं, जिनके बारे में जानकारी नहीं है। विटामिन डी के कुछ खाद्य स्रोतों में शामिल हो सकते हैं- अंडे की जर्दी, मशरूम, गाय का दूध, सोया दूध, अनाज, दलिया, संतरे का रस और कॉड लिवर ऑयल।

Check Also

रहना चाहते हैं हेल्‍दी एंड फिट, ये 7 बातें अभी से फॉलो करना शुरू करें

आजकल रहन-सहन इतना महंगा हो गया है कि सब कुछ बजट के बाहर चला गया …