वाहन मालिकों की परेशानी:ज्यादा कमीशन के चक्कर में नॉर्मल के बजाय डाल रहे पावर पेट्रोल, लीटर के 3.60 रुपए लग रहे अधिक

पेट्रोल पंप पर लोगों को नॉर्मल पेट्रोल के लिए जद्दोजहद करनी पड़ रही है। - Dainik Bhaskar

पेट्रोल पंप पर लोगों को नॉर्मल पेट्रोल के लिए जद्दोजहद करनी पड़ रही है।

  • पेट्रोल पंपों पर लूट, वाहन मािलकों को मजबूरी में डलवाना पड़ रहा महंगा पेट्रोल

शहर में एक ओर जहां वाहन मालिकाें काे पेट्राेल महंगा हाेने के कारण परेशानी झेलनी पड़ रही है, वहीं दूसरी ओर अब नॉर्मल पेट्राेल ही पेट्राेल पंपाें पर नहीं डाला जा रहा है। बीते दाे दिन से शहर के कई पेट्राेल पंपाें में तेल की कमी बताकर पावर/एक्स्ट्रा प्रीमियम पेट्राेल डाला जा रहा है।

पावर पेट्राेल का रेट 92.22 रुपए चल रहा है, जबकि नॉर्मल पेट्राेल 88.62 रुपए में मिल रहा है। दोनों में इस समय 3.60 रुपए का अंतर है। ऐसे में वाहन मालिकाें काे नुकसान झेलना पड़ रहा है। पावर पेट्राेल में कमीशन का भी खेल है। लाेगाें का आराेप है कि शाम पांच बजे के बाद लगभग सभी पेट्राेल पंपाें पर पावर पेट्राेल ग्राहकाें काे दिया जा रहा है। जबकि, नॉर्मल पेट्राेल देने के लिए इनकार किया जा रहा है।

पावर पेट्राेल में पेट्राेल पंप संचालकाें काे अधिक कमीशन मिलती है। नॉर्मल में जहां तीन रुपए तो पावर में चार रुपए कमीशन है। शिमला शहर की बात करें ताे यहां पर लाेग नॉर्मल पेट्राेल ही डालते हैं। पावर पेट्राेल की एवरेज नॉर्मल पेट्राेल से अधिक हाेती है, लेकिन महंगा हाेने के कारण वाहन चालक इसका इस्तेमाल अपनी गाड़ियाें में नहीं करते हैं।

नियमाें के अनुसार अगर पेट्राेल पंप संचालकाें के पास पेट्राेल उपलब्ध है ताे वे इनकार नहीं कर सकते हैं। किसी काे भी जबरदस्ती पावर पेट्राेल नहीं दे सकते। ग्राहकाें की इच्छानुसार ही पेट्राेल और डीजल डालना हाेता है। ऐसे में शहर में इस तरह से पावर और नॉर्मल पेट्राेल के फेर में आम लाेगाें काे ही नुकसान झेलना पड़ रहा है।

नॉर्मल पेट्रोल (कीमत, 1 लीटर)

  • 88.62 रुपए
  • 03 रुपए लीटर पर कमीशन

पावर पेट्रोल (कीमत, 1 लीटर)

  • 92.22 रुपए
  • 04 रुपए लीटर पर कमीशन

एक रुपए ज्यादा कमाने के चक्कर में वाहन मािलकों को ज्यादा कीमत वाला पेट्रोल खरीदने पर कर रहे मजबूर

ऐसे बढ़ते गए भाव

  • अप्रैल 2020 70.92
  • मई 2020 70.92
  • जून 2020 71.93
  • जुलाई 2020 79.04
  • अगस्त 2020 79.04
  • सितंबर 2020 80.36
  • अक्टूबर 2020 79.58
  • नवंबर 2020 79.58
  • दिसंबर 2020 80.68
  • जनवरी 2021 81.81
  • फरवरी 2021 88.62 (अब तक)

वाहन मालिक बोले

पावर डालना है तो बोलो, नॉर्मल खत्म है

शहर की एक निजी कंपनी में काम करने वाले राजेश कुमार का कहना है कि वे बीते साेमवार काे पांच बजे अपने कार्यालय से निकला। अपनी गाड़ी में तेल डालने के लिए एक पेट्राेल पंप पर रुका। यहां कहा गया कि नॉर्मल पेट्राेल खत्म हाे गया है। पावर पेट्राेल डालना है ताे डालाे। मैं दूृसरे पेट्राेल पंप पर गया, यहां भी यही कहा गया कि पावर पेट्राेल ही है, डालना है ताे डालाे।

इतना महंगा कैसे डालेंगे, जेबें खाली हो रही

लाेअर बाजार में दुकान चलाने वाले सुमेश का कहना है कि मैंने छाेटा शिमला से लेकर ढली तक जितने भी पेट्राेल पंप पूछे सबने तेल डालने से इनकार कर दिया। कई जगह कहा गया कि पेट्राेल ही नहीं है, कइयाें ने कहा कि एक्स्टट्रा प्रीमियम पेट्राेल डालाे। ऐसे में अब इतना महंगा पेट्राेल कैसे डालेंगे, इससे जेबें खाली हाे रही है।

फिलहाल इस तरह की काेई शिकायत नहीं आई है। अगर इस तरह से पेट्राेल पंपाें पर हाे रहा है ताे कार्रवाई की जाएगी। सबकाे नियमाें का पालन करना हाेगा। पेट्राेल पंपाें के प्रबंधकाें से इस संबंध में बात की जाएगी। –आदित्य नेगी, डीसी शिमला

 

Check Also

आजादी की 75वीं वर्षगांठ: PM मोदी की अध्यक्षता वाली 259 सदस्यों की कमिटी गठित, सोनिया भी शामिल

भारत की आजादी की 75वीं वर्षगांठ मनाने के उपलक्ष्य में भारत सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र …