वास्तुशास्त्र से कैसे संवारें अपने बच्चों का भविष्य, जानें

ज्योतिष शास्त्र हमारे जीवन का अभिन्न अंग है। इसके माध्यम से आप अपने बच्चों को बुध्दिमानी और कलात्मक गतिविधियों में श्रेष्ठता प्राप्त करने के लिए इसका महत्व है। बच्चों के उज्ज्वल भविष्य के लिए हर मां बाप को वास्तु उपाए की और अपना ध्यान कैंद्रित करना चाहिए।
वास्तु से अपने बच्चे को बनाएं निपुण:
# अगर आपके घर के सरस्वती के स्थान में अगर दोष है तो आपके ज्ञान और शिक्षा पर इसका प्रभाव पड सकता है । व्यवसाय के विकास तथा संपत्ती के निर्माण पर अप्रत्यक्ष रूप से इसका प्रभाव पड़ सकता है।
# सरल वास्तु के विशेषज्ञ आपके घर के सरस्वती स्थान का विश्लेषण करेंगे और आपको कार्यवाही करने के लिए मदद करेंगे।
# बिस्तर पर बैठकर पढ़ाई करने से पढ़ाई के दौरान अध्ययन पर एकाग्रता कम हो जाती है इसलिए बिस्तर पर बैठकर पढ़ाई करने से बचें। अध्ययन में जो गंभीरता उत्पन्न होनी चाहिए बिस्तर पर वो नहीं होती है।
# छात्र ने पढ़ाई करते समय अध्ययन में एकाग्रता को बढ़ाने के लिए उसका/उसकी चौथी अनुकूल दिशा का सामना करना चाहिए।

Check Also

ब्रह्मा से वरदान मांगते समय रावण ने की यह एक गलती, न करता तो उसे कोई मार नही सकता था।

रावण पूरे विश्व और हर लोक को अपने अधीन करने चाहता था। वो विश्व विजेता …