वाराणसी: पूजा की थाल पर पड़ी महंगाई की मार

वाराणसी: किचन की थाली के साथ-साथ पूजा की थाली पर भी महंगाई की मार पड़ी है. महंगाई का असर इस बार पूजा की थाली पर भी स्पष्ट रूप से देखने को मिल रहा है. पहले जहां लोग 300 से 350 रुपये में पूजा की थाली तैयार कर लेते थे. तो अब इसी थाली की कीमत 500 से 550 रुपये हो गई है. महंगाई के कारण अब लोग सिर्फ बेहद जरूरी सामानों के साथ ही भगवान की पूजा अर्चना कर रहे हैं. महंगाई का पूजा पर कितना असर पड़ा है, यह जानने के लिए ईटीवी भारत की टीम ने दुकानदारों व ग्राहकों से बातचीत की.

नवरात्रि पर दिखा महंगाई का असर.

लगभग 50 प्रतिशत महंगी हुई पूजन सामग्री

लगभग 16 वर्षों से पूजा सामग्री की दुकान चला रहे राकेश गुप्ता ने ईटीवी से बातचीत में बताया कि 25 से 50 प्रतिशत तक पूजा सामग्री के दामों में बढ़ोतरी हुई है. पहले जो सामान 10 रुपये का मिलता था अब उस सामान की कीमत 20 से 25 रुपये हो गई है. उन्होंने बताया कि नारियल, चुनरी के दामों में ज्यादा बढ़ोतरी हुई है. क्योंकि प्रोडक्शन कम हुआ है और मार्केट में माल कम आया है. महंगाई के कारण ग्राहक भी 50 प्रतिशत तक घट गए हैं. नवरात्रि में दुकान ग्राहकों से पटी हुई रहती थी, लेकिन इस बार कोरोना व महंगाई के कारण जिन्हें बहुत जरूरत है वही लोग आ रहे हैं.

etv bharat

महंगी हुई पूजा सामग्री.

वहीं एक अन्य श्रद्धालु सुधा केशरी ने बताया कि पहले 100 रुपये में ही पूजा के सारे सामानों की खरीदारी हो जाती थी. वहीं इसके लिए अब 200 से 300 रुपये भी कम पड़ रहे हैं. भगवान की पूजा तो करनी ही है. उन्होंने कहा कि पूजा थोड़े में ही करेंगे, मगर कर रहे हैं. महंगाई का बहुत असर हमारी जेब पर पड़ रहा है, लेकिन हमारी श्रद्धा वही है.

पूजा सामग्रियों के दामों पर एक नजर

पूजा सामग्री दाम (पहले) दाम (अब)
नारियल 10 25-50
चूनरी 120 रुपये दर्जन 180 रुपये दर्जन
लोहबान 400 रुपये/किलो 500 रुपये/किलो
रूई 5 रुपये/पैकेट 10-50 रुपये/पैकेट

Check Also

कानून से ही कानून को मात दे रहा है माफिया मुख्तार अंसारी, पंजाब से खाली हाथ लौटी यूपी पुलिस

लखनऊ। अपराध मुक्त वातावरण की परिकल्पना हर कोई करता है, लेकिन यह कैसे संभव होगा इस …