वायु प्रदूषण में खांसी को रोकने के लिए चंद भरोसेमंद नुस्खे, आपके लिए होंगे फायदेमंद

आम धारणा के विपरीत खांसना सेहत के लिए खराब नहीं है. ये पूरी तरह से सामान्य और प्राकृतिक स्वाभाविक क्रिया है जो अड़चन से वायुमार्ग को साफ करने में मदद करता है. खांसी आम तौर से ये अस्थायी होती है और जब एक बार गला साफ हो जाए और और बाहरी कण हट जाए तो खुद से चली जाती है. लेकिन निरंतर खांसी खराश का कारण बन सकती है और रात भर आपको परेशान रख सकती है.

 

ये एलर्जी, धूल, धुएं के कारण हो सकती है जो सर्दी के मौसम में अत्यधिक खराब हो जाती है. अगर आप भी गले की खराश के साथ संघर्ष कर रहे हैं, तो राहत के लिए प्राकृतिक उपाय कर सकते हैं. कुछ घरेलू इलाज वायुमार्ग की सफाई में बिल्कुल प्रभावी हैं जिससे सांस लेना आसान हो जाता है. फिर भी, अगर समस्या लंबे समय तक रहती है, तो डॉक्टर से सलाह लेना मुफीद होगा. कुछ देसी टोटकों को बारे में आपके लिए जानना फायदेमंद हो सकता है.

 

नीलगिरी का तेल
नीलगिरी का तेल आपके वायुमार्ग को साफ कर आराम मुहैया करा सकता है. त्वरित परिणाम के लिए, नारियल या जैतून के तेल में चंद कतरे नीलगिरी तेल मिलाएं और मिश्रण को छाती और गले पर मलें. आप नीलगिरी का भाप भी लेने की कोशिश कर सकते हैं. एक प्याला गर्म पानी में नीलगिरी तेल के चंद कतरे मिलाएं और भाप को अंदर लें.

 

शहद
शहद सर्दी और खांसी के लिए आजमाया और भरोसेमंद देसी नुस्खा है. इसका एंटी ऑक्सीडेंट्स, एंटी माइक्रोबायल और सूजन रोधी गुण गले की खराश से राहत दिलाता है. हाल ही में एक शोध से खुलासा हुआ है कि शहद खांसी और सर्दी के इलाज में काउंटर की दवा से ज्यादा बढ़िया है. आपको हर्बल चाय या गर्म पानी और नींबू में दो चम्मच शहद मिलाकर रोजाना दो बार प्रभावी नतीजे के लिए पीना होगा.

 

अदरक
अदरक का सूजन रोधी गुण वायुमार्ग के पर्दे को आसान कर सकता है और खांसी की समस्या को कम करता है. अदरक चाय पीकर या शहद औप काली मिर्च के साथ अदरक जूस का सेवन खांसी के सबसे ज्यादा प्रभावी इलाज में से एक है. लेकिन अदरक की चाय का ज्यादा इस्तेमाल पेट खराब या पेट में जलन पैदा कर सकता है.

 

पुदीना
पुदीना में मेंथोल नामक यौगिक पाया जाता है जो गले में तंत्रिका सिरा को सुन्न कर सकता है जो खांसने से खराश पैदा करता है. ये दर्द और गले के खराश से राहत दिला सकता है. इसके अलावा, पुदीना बलगम के जमाव को भी घटाने में मदद कर सकता है. दिन भर में 2-3 बार पुदीना की चाय पीना खांसी की समस्या कम करने का सबसे असरदार तरीका है. अरोमा थेरेपी के तौर पर आप पुदीना का तेल भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

Check Also

अपने हार्ट और किडनी को स्वस्थ रखने के लिए खाएं ये फूड्स

हार्ट और किडनी की समस्या आजकल बेहद आम हो गई है और लगातार खान पान …