लौकी का जूस पीने से पहले जान लें ये बातें, वरना सेहत को हो सकता है नुकसान

गर्मियों के मौसम में लौकी (Gourd) कै सेवन सबेस अधिक होता है क्योंकि ये आपके शरीर को ठंडा रखता है.इसमें कई तरह के पौष्टिक तत्व होते हैं, जिसमें विटामिन्स और मिनरल्स की भरपूर मात्रा होती है. इसके अलावा लौकी आपको पेट की समस्याओं से भी दूर रखता है. लौकी में विटामिन ए, सी, कैल्शियम, ऑयरन, जिंक, पौटेशियम और प्रोटीन की भरपूर मात्रा होती है. ये शरीर में ब्लड प्रेशर को कंट्रोल रखने में मदद करता है. लेकिन क्या आप जानते हैं लौकी के जूस का अधिक सेवन करना सेहत के लिए हानिकारक होता है.

अगर आपने जरूरत से ज्यादा लौकी का जूस पी लिया तो पेट को नुकसान पहुंचा सकता है. इसकी वजह से उल्टी, दस्त समेत अन्य बीमारियां हो सकती हैं. ये आपके पाचन तंत्र को कमजोर कर सकता है.

ब्लड में शुगर की कमी हो सकती है

डायबिटीज और ब्लड प्रेशर के मरीजों को लौकी का जूस पर्याप्त मात्रा में पीना चाहिए. जरूरत से ज्यादा जूस पीने से शरीर में शुगर की मात्रा कम हो सकती है. इसकी वजह से चक्कर आना, बेहोशी, आंखों के सामने अंधेरापन आदि परेशानियां हो सकती हैं.

एलर्जी हो सकती है

लौकी के जूस में कड़वापन होता है. कड़वेपन की वजह से कई लोगों को एलर्जी हो जाती हैं. इसे पीने से चेहरे, हाथ- पैर में सूजन हो सकती है. इसके अलावा रैशेज, खुजली की परेशानी हो सकती है. इसलिए ध्यान रहे कि लौकी की जूस कड़वा नहीं होना चाहिए. कड़वेपन को दूर करने के लिए काला नमक, काली मिर्च का पाउर, पुदीना और नींबू के रस का इस्तेमाल कर सकते हैं.

पीने के बाद नजर आएं ये लक्षण

अगर आपको जूस पीने के बाद अधिक पसीना आएं, भूख न लगे, खुजली, खकान, आंखों के आगे अंधेरा छा जाना, बेहोसी, डिप्रेशन, घबराहट आदि के लक्षण दिखें तो बिना देर किए अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

कितना जूस पीना चाहिए

दिनभर में एक गिलास लौकी का जूस पिएं. इससे ज्यादा जूस पीना सेहत के लिए हानिकारक होता है. कभी भी बचा हुआ लौकी का जूस नहीं पीना चाहिए. हमेशा फ्रेश जूस बनाकर पीना चाहिए.

Check Also

अगर स्किन पर पड़ गए हों कीड़े काटने के निशान, तो इन तरीकों से करें इनको दूर

Tips to Get Rid of Insect Bite Marks: बरसात के मौसम में कीड़ों का काटना (Insect …