लोन अकाउंट की गुणवत्ता, ग्राहकों और कर्मचारियों की सुरक्षा शीर्ष प्राथमिकता: दिनेश खारा

मुंबई : देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के नव नियुक्त चेयरमैन दिनेश खारा ने बुधवार को कहा कि बैंक के रिण खातों की गुणवत्ता और ग्राहकों तथा कर्मचारियों की सुरक्षा उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता है। खारा ने बुधवार को ही स्टेट बैंक के चेयरमैन का कार्यभार संभाला है। उन्होंने कहा कि बैंक अपने ग्राहकों को बेहतर अनुभव दिलाने के लिये लगातार काम करता रहेगा। खारा ने बैंक में रजनीश कुमार का स्थान लिया है। खारा ने बैंक के चेयरमैन का कार्यभार संभालने के मौके पर कहा, ‘उनकी सबसे बड़ी प्राथमिकता अपने कर्मचारियों और ग्राहकों की सुरक्षा है। इसके साथ ही कर्ज खातों की गुणवत्ता को बनाये रखना है जिसे हमने अभी तक बनाये रखा है। हम चाहते हैं कि हम ऐसी स्थिति में हों कि यदि किसी को जरूरत पड़ती है तो हम उसकी मदद कर सकें।’

यदि कोविड- 19 की वजह से कंपनियों को किसी प्रकार की समस्या आड़े आ रही है तो बैंक को रिजर्व बैंक द्वारा तय किये गये मानदंडों के दायरे में रहते हुये उनकी आगे बढ़कर मदद करने में प्रसन्नता होगी। रिजर्व बैंक ने कोविड- 19 से दबाव में आई कंपनियों और व्यक्तिगत कर्जदारों के कर्ज की एकबारगी पुनर्गठन योजना को अनुमति दी है। सरकार ने खारा को तीन साल के लिए स्टेट बैंक का चेयरमैन नियुक्त किया है। उन्होंने कहा कि बैंक में रिण के एकबारगी पुनर्गठन को लेकर स्थिति नियंत्रण के दायरे में हैं। उन्होंने कहा, ‘जब बात कार्पोरेट रिण पुनर्गठन की हो तो मेरा मानना है कि वर्तमान में हमने नहीं देखा है कि कई कंपनियां इसके लिये आगे आ रही हैं, कुछ ही हैं जो आरहे हैं। जितनी संख्या हमने देखी है यह बहुत अलग नहीं है। मैं कहूंगा कि यह सब हमारे व्यवस्थित दायरे में ही है।’ बैंक ने हाल ही में अपने खुदरा ग्राहकों के लिये रिण पुनर्गठन की उनकी पात्रता का पता लगाने के लिये एक वेबसाइट की शुरुआत की है।

Check Also

ई-कॉमर्स क्षेत्र में FDI नियमों में बदलाव करेगी सरकार

नई दिल्ली :  केंद्र सरकार ई-कॉमर्स के लिए प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के नियमों में …