लालू राज में जिस तरह जंगल राज की स्थिति थी, वही आज झारखंड में दिख रहा है: रघुवर दास

 

भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सह पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि कांग्रेस-लालू के इशारे पर हेमंत सोरेन सरकार चला रहे हैं। (फाइल)

  • भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सह पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा दुमका जिला के प्रमुख कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित किया

भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सह पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि 9 महीने में ही हेमंत सरकार ने राज्य में अराजकता की स्थिति उत्पन्न कर दी है। लालू राज में जिस तरह जंगल राज की स्थिति थी, वही आज राज्य में दिख रहा है। संताल परगना में आदिवासी बहनों के साथ लगातार अत्याचार हो रहा है। राज्य में नक्सलवाद फिर से अपने पैर पसार रहा है। ट्रांसफर पोस्टिंग एक उद्योग बनकर रह गया है। वे सोमवार को भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा दुमका जिला के प्रमुख कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित कर रहे थे।

रघुवर दास ने कहा-संताल परगना में सरकार के इशारों पर अवैध खनन चल रहा है। सोरेन परिवार की बहू इस अवैध खनन के खिलाफ लगातार सरकार पर प्रश्नचिह्न खड़ा कर रही है। कांग्रेस-लालू के इशारे पर हेमंत सोरेन सरकार चला रहे हैं। यह सरकार सिर्फ ट्विटर और बयानबाजी की सरकार बन कर रह गई है। मुख्यमंत्री से लेकर प्रखंड स्तर तक के पदाधिकारी ट्वीट-ट्वीट खेलते है, उसका परिणाम शून्य मिलता है।

रघुवर दास ने कहा कि आदिवासी समाज के बीच भ्रम फैलाकर झूठ की राजनीति कर सत्ता प्राप्त किया। लेकिन आज आदिवासी समाज के विकास के लिए हेमंत सरकार के पास कोई ठोस रणनीति नहीं है। आदिवासी समाज के धार्मिक अगुवा को मिलने वाली सम्मान राशि को भी हेमंत सरकार ने बंद कर दिया है। झामुमो ने राज्य के आदिवासी मूलवासी युवाओं को नौकरी देने का वादा किया था, नौकरी देना तो दूर इसके उलट भाजपा सरकार में आदिवासी- मूलवासी युवाओं को दी गई नौकरी को छीना जा रहा है। बैठक में पूर्व प्रदेश 20 सूत्री उपाध्यक्ष राकेश प्रसाद, सांसद सुनील सोरेन, भाजपा प्रदेश सह मीडिया प्रभारी अशोक बड़ाईक, जिला अध्यक्ष निवास मंडल, मोर्चा जिला अध्यक्ष कालेश्वर मुर्मू, रेणुका मुर्मू, एंजेला मुर्मू, दानियाल किस्कू, परितोष सोरेन, सुरेश मुर्मू, सिमोन माल्टो, रविन्द्र टुडू, विमल मरांडी, गुंजन मरांडी, साहेब हांसदा सहित कई कार्यकर्ता उपस्थित थे।

 

Check Also

बंगाली समाज मां के पदचिह्न बनाकर करेगा षोडशोपचार पूजा, मां को चढ़ेगा नारियल व तिल का लड्डू, अन्न, चटनी, खीर, मिठाई, फल का भोग

देवी को नारियल व तिल का लड्डू, अन्न, सब्जी, भुजिया, चटनी, खीर, मिठाई, फल आदि …