लाख टके की लापरवाही:रिश्तेदार बन किया फोन, बैंक ने बिना कनफर्म किए एमएच होंडा के खाते से ट्रांसफर किए 14.83 लाख

 

एसबीआई बैंक की रेड क्रॉस शाखा। - Dainik Bhaskar

एसबीआई बैंक की रेड क्रॉस शाखा।

  • बैंक ने 2 ट्रांजेक्शन करने के बाद ग्राहक को किया फोन, 9 लाख की तीसरी ट्रांजेक्शन रोकी
  • 3 जून का है मामला, जालंधर व दिल्ली के खाते में ट्रांसफर किए पैसे, अब जाकर पुलिस को दी शिकायत

रोपड़ के एसबीआई बैंक की रेड क्रॉस शाखा ने एक ठग के झांसे में आकर एक ग्राहक के खाते से 14 लाख 83 हजार रुपए ठग के 3 खातों में ट्रांसफर कर दिए। बैंक को अपनी गलती का अहसास तब हुआ जब ग्राहक को फोन किया गया और उसने पैसे ट्रांसफर करने से इंकार कर दिया।

लेकिन तब तक बैंक 14 लाख 83 हजार रुपए ट्रांसफर कर चुका था और एक 8 लाख 89 हजार रुपए ट्रांसफर होने बाकी थे, जिसे रोक लिया गया। अब बैंक ने पुलिस को शिकायत देकर जांच की मांग की है। दरअसल ठग ने बैंक में यह कहा कि वह एमएच होंडा के मालिक का रिश्तेदार है और उसे पैसे की जरूरत है।

इसके बाद बैंक ने एमएच ऑटो मोबाइल प्राइवेट लिमिटेड नाम के 3 खातों में से पैसे ट्रांसफर कर दिए। जब इस बात का पता एमएच होंडा के मालिक को लगा तो उनके होश उड़ गए। उधर, इस संबंध में जब बैंक की मैनेजर दिव्या गुप्ता के साथ बात की तो उन्होंने यह कहते हुए पल्ला झाड़ लिया कि इस संबंधी उनके पास कोई जानकारी नहीं है और बाद में फोन काट दिया। बार-बार फोन करने के बाद भी उन्होंने फोन नहीं उठाया।

बैंक ने शिकायत में कहा- ट्रूकॉलर में फोन करने वाले का नाम डायरेक्टर एमएच होंडा अभिषेक गुप्ता दिखा रहा था

इस संबंधी एसएसपी रोपड़ डॉ. अखिल चौधरी ने कहा कि उनको बैंक द्वारा आज शिकायत दी गई है, जिसमें कहा गया है कि जिस नंबर से कॉल आई थी, ट्रू कॉलर में वह नंबर डायरेक्टर एमएच होंडा अभिषेक गुप्ता का बता रहा था।

इसके बाद जिन 3 अकाउंट में पैसे ट्रांसफर किए थे, उनमें 1 दिल्ली का और 2 अकाउंट जालंधर के हैं। इसके बाद बैंक द्वारा अकाउंट के पैसे रोक लिए गए थे। उन्होंने बताया कि डीएसपी-आर को भेज दिया है। जल्द ही इस मामले की जांच करके कार्रवाई की जाएगी।

बिना ग्राहक की मंजूरी पैसे ट्रांसफर नहीं कर सकता बैंक

इस संबंधी जब हमने पंजाब एंड सिंध बैंक के रिटायर्ड चीफ मैनेजर इंद्रपाल सिंह चड्ढा से बात की तो उन्होंने कहा कि ग्राहक के हस्ताक्षर के बिन बैंक मैन्युअल ट्रांजेक्शन नहीं कर सकता। बिना ग्राहक की मंजूरी पैसे किसी अकाउंट में ट्रांसफर नहीं कर सकते। किसी जान पहचान का बोलने पर बैंक को उससे सर्टिफिकेट लेना पड़ता है।

बैंक को सभी पैसे ट्रांसफर करने से पहले कनफर्म करना चाहिए था : विजय गुप्ता

ठगी का शिकार हुए बैंक के ग्राहक एमएच ऑटो मोबाइल प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर विजय गुप्ता ने बताया कि 3 जून को दोपहर 1 बजे उन्हें बैंक से फोन आया कि आपके रिश्तेदार की कॉल आई थी कि कोई मेडिकल इमरजेंसी है, आप मेरे 3 पर्सनल अकाउंट में 23 लाख 72 हजार रुपए ट्रांसफर कर दो।

तो हमने उनकी कॉल के तुरंत बाद आपके एमएच ऑटो मोबाइल प्राइवेट लिमिटेड के खाते से उनके 3 अकाउंट में पैसे ट्रांसफर कर दिए हैं। हमने यह कंफर्म करने के लिए ही कॉल की है। इसके बाद जब विजय गुप्ता ने बैंक को कहा कि उन्होंने कोई पैसे ट्रांसफर नहीं करवाए तो बैंक ने 8.89 लाख रुपए की एक ट्रांजेक्शन होल्ड कर दी गई।

गुप्ता ने कहा कि बैंक को सभी पैसे ट्रांसफर करने से पहले कनफर्म करने के लिए उन्हें कॉल करनी चाहिए थी। गुप्ता ने कहा कि बैंक प्रबंधन ने पैसे रिफंड करने और ठग पर कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

बीजापुर : वन विभाग की टीम ने बेजा कब्जा हटाया

बीजापुर, 15 जून (हि.स.)। नगर पालिका के वार्ड क्रमांक सात के चट्टानपारा में वन भूमि …