लगातार सिर में होने वाले दर्द को मत कीजिए नजरअंदाज वरना एक छोटी सी गलती पड़ सकती है भारी

रोजाना की जिंदगी में हम आए-दिन सिर दर्द का सामना करते हैं लेकिन इसे सामान्य मान कर ध्यान नहीं देते हैं. आपको लगातार रहने वाले सिर दर्द की समस्या गंभीर भी हो सकती है. इंसानों में 150 तरह के सिर दर्द हो सकते हैं. इसके लिए जरुरी है कि समय रहते आपको पता होना चाहिए इस दर्द के पीछे की असल वजह क्या है?

जानिए सिर दर्द कितने तरह के होते हैं और इनके पीछे के क्या कारण होते हैं?

टेंशन में होने वाला सिर दर्द

Tension

मेडिकल वेबसाइट WebMD के मुताबिक आमतौर पर होने वाला ये सबसे सामान्य सिरदर्द है. जो अक्सर व्यस्क और किशोरों में होता है. आमतौर पर इसमें कोई दूसरे लक्षण नहीं दिखाई देते हैं. ये सिर दर्द आता-जाता रहता है. इसका मुख्य कारण तनाव होता है.

माइग्रेन सर दर्द

Migrain

माइग्रेन का दर्द काफी तेज और असहनीय होता है. इस तरह का दर्द कुछ घंटों से लेकर, कुछ दिनों तक रह सकता है. इस तरह का दर्द एक महीने में 3 से 4 बार हो सकता है. इस दर्द की खास पहचान ये है कि इसके कुछ और दूसरे लक्षण भी हैं. जैसे रोशनी/ लाइट से परेशानी होना, तेज आवाज से तकलीफ बढ़ना, उल्टी आना, जी-घबराना, भूख खत्म होना, पेट खराब होना, पेट दर्द आदि भी शामिल हैं.

क्लस्टर सर दर्द

Cluster

इस सिर दर्द को क्लस्टर इसलिए बोलते हैं क्योंकि ये ज्यादातर ग्रुप्स में होते हैं. इसका मतलब आपको एक दिन में कई बार ये दर्द उठ सकता है. ये सबसे गंभीर और तेज असहनीय दर्द होता है. इसमें पीड़ित को आंखों के आस-पास जलन और कील चुभने जैसा एहसास होता है. आंखें सूखना, आंख लाल होना, प्यूपिल (आंख की पुतली) का छोटा होना या लगातार आंसू आते रहना है. ये दर्द जिस तरफ होता है, उस तरफ की नोस्ट्रिल में सूखापन महसूस होता है. ये सर दर्द का समय 2 हफ्ते से 3 महीने तक हो सकता है.

साइनस सिर दर्द

Sinus

साइनस का दर्द लगातार और तेज होता है. यह गाल की हड्डी, माथे या नाक के ऊपर वाली सतह पर हो सकता है. ये सिर दर्द, माथे में पाए जाने वाली कैविटी (साइनस) में सूजन आने के कारण होता है. दर्द के साथ पीड़ित की नाक बहना, कान बंद होना, बुखार और चेहरे पर सूजन जैसे लक्षण भी दिखाई देते हैं. साइनस के समय नाक से कफ जैसा पदार्थ निकलता है, जो हरे और पीले रंग का हो सकता है. ये आमतौर पर नहीं निकलता है.

पोस्ट ट्रॉमेटिक सिर दर्द

ये दर्द किसी तरह की चोट लगने के बाद होने वाला दर्द है. ऐसा दर्द चोट लगने के दो तीन दिन बाद उभर सकता है. इसमें दर्द के दौरान आपको स्मृति से जुड़ी परेशानियां हो सकती हैं. साथ ही थकान का एहसास होना, चिड़चिड़ापन, एकाग्रता में कमी जैसी दिक्कतें भी होती हैं. ये सिर दर्द आम तौर पर कुछ हफ्ते तक हो सकता है लेकिन ज्यादा समय तक रहने पर डॉक्टर से सलाह लेना बेहद जरूरी है.

Check Also

लड़कियाँ गर्दन पर जमे मैल को साफ़ करने के लिए अपनाए ये घरेलू उपाय

अक्सर गर्मियों में पसीने और समय की कमी के कारण कुछ संवेदनशील हिस्सों पर सफाई करना …