रिश्तों का कत्ल:करनाल से कथावाचक पकड़ा तो हुआ खुलासा, पत्नी का गला दबा हत्या कर शव नहर में फेंका

कुरुक्षेत्र | हत्या के आरोपी को लेकर नेहा की तलाश में नहर पर सर्च करती पुलिस टीम। - Dainik Bhaskar

कुरुक्षेत्र | हत्या के आरोपी को लेकर नेहा की तलाश में नहर पर सर्च करती पुलिस टीम।

  • पुलिस पर प्रताड़ना का आरोप लगा सुसाइड नोट लिख कथावाचक 7 फरवरी से चल रहा था गायब

गांव खैरी के कथावाचक प्रशांत और उसकी पत्नी नेहा के लापता होने के रहस्य से पर्दा हट गया। पत्नी की हत्या कर कथावाचक खुद ही लापता हुआ। पहले पत्नी की हत्या की और फिर अपने लापता होने की कहानी कथावाचक ने रची। पुलिस व ससुरालवालों को गुमराह करने के मकसद से पुलिस पर ही टार्चर के आरोप लगा सुसाइड नोट घर में छोड़कर निकला था।

सोमवार तड़के पुलिस ने कथावाचक को करनाल से ढूंढ निकाला। पूछताछ में पूरी कहानी खुल गई। उसे शक था कि उसकी पत्नी के किसी युवक से संबंध हैं। बताया कि हत्या के बाद एक साथी की मदद से उसने पत्नी के शव को आवर्धन नहर में करनाल के पास फेंकी थी। अब पुलिस पत्नी का शव तलाशने में जुटी है। सीआईए वन और बाबैन पुलिस इससे पहले दोनों को लापता मान कर तलाश रही थी। पुलिस ने उसके साथी को भी गिरफ्तार कर लिया है।

आठ साल पहले हुई थी शादी : खैरी निवासी 28 वर्षीय प्रशांत की शादी धौड़ंग, यमुनानगर निवासी 25 वर्षीय नेहा के साथ आठ साल पहले हुई थी। प्रशांत कथावाचक है। शादी के बाद पत्नी नेहा ने दो बच्चों छह साल की बेटी व तीन के बेटे को जन्म दिया। पिछले कुछ माह से दंपती के बीच अनबन चल रही थी।
एक फरवरी को ही लाया था : अनबन के चलते नेहा नवंबर 2020 को मायके चली गई थी। इसके बाद नेहा ने प्रशांत व उसके परिजनों पर दहेज प्रताड़ना का केस दायर करवा दिया था। इसे लेकर दोनों पक्षों में पंचायतें भी चली। एक फरवरी को समझौते के बाद नेहा को अपने साथ खैरी ले आया।

पत्नी के चरित्र पर करता था शक, ससुराल वालों ने भी लगाए थे आरोप, रात को घर में की थी हत्या

एक फरवरी को मायके से मनाकर लाया था पत्नी को, उसी दिन कर दी हत्या

प्रशांत नेहा के चरित्र पर शक करता था। इसी के चलते उसने नेहा की हत्या की प्लानिंग की। एक फरवरी को दिन में वह नेहा को घर लाया था। रात को करीब 11 बजे उसने गला दबा कर नेहा की हत्या कर दी। नहीं जली लाश, नहर में फेंकी : इसके बाद घर के पास ही स्थित एक निर्माणाधीन मंदिर के पीछे रात को ही उसने एक ड्रम में शव डालकर जलाने का प्रयास किया। जब शव नहीं जला तो उसे बोरे में डाल दिया। अपने ही साथ काम करने वाले संदीप कुमार निवासी सदरपुर घरौंडा को साथ मिलाया। दोनों ने रात को ही शव कार में रख करनाल के पास आवर्धन नहर में फेंक आए।

पत्नी के लापता होने की शिकायत दी

हत्या करने के बाद परिजनों को बताया कि नेहा रात को ही घर छोड़कर चली गई है। जिस पर मायके वालों ने भी तलाश शुरू की। उस पर शक था, उसके खिलाफ पुलिस को शिकायत की। जिस पर बाबैन पुलिस ने प्रशांत को बुलाकर पूछताछ भी की। वहीं पुलिस को प्रशांत ने यही बताया कि उसने नेहा को किसी से फोन पर बात करते देखा था, जिसे लेकर दोनों में फिर से तकरार हुई थी। रात को नेहा घर छोड़ कर चली गई।

खुद लापता की कहानी रची

इसके बाद प्रशांत ने अपने ही लापता होने का ड्रामा रचा। घर पर एक सुसाइड नोट लिख कर सात फरवरी को वह घर से निकल गया। नोट में लिखा कि कलयुग में सत्य का साथ कोई नहीं देता। पुलिस ने पत्नी के लापता होने पर उसे ही दोषी माना। उसे पीटा गया। सात फरवरी को उसकी मां कृष्णा देवी पत्नी गोपाल स्वामी ने प्रशांत के लापता होने पर पुलिस को सूचित किया।

प्रशांत का साथ देने वाले सहायक संदीप ने किया खुलासा

एसपी हिमांशु गर्ग ने मामले की जांच सीआईए वन प्रभारी जसपाल ढिल्लो की टीम को सौंपी। डीएसपी रविंद्र तोमर के मुताबिक पुलिस दोनों की तलाश में लगी। जांच के दौरान पुलिस की शक सुई प्रशांत के सहायक रहे संदीप कुमार पर गई। 21 फरवरी को पुलिस ने संदीप को पिपली चौक से पकड़ा। जब उससे पूछताछ की तो वह मान गया कि नेहा गुम नहीं हुई, बल्कि उसकी हत्या हो चुकी है। बताया कि 22 फरवरी को सुबह प्रशांत उसे करनाल रेलवे स्टेशन पर मिलेगा। इस पर पुलिस ने वहां जाल बिछाया। सोमवार सुबह उसे भी पकड़ लिया।

शव की तलाश में पुलिस : इंस्पेक्टर जसपाल ढिल्लों के मुताबिक पुलिस अब नेहा के शव की तलाश कर रही है। इसके लिए गोताखोर प्रगट सिंह व उसकी टीम की भी मदद ले रहे हैं।

 

Check Also

कोरोना देश में:पिछले 24 घंटे में 36 में से 23 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में एक्टिव केस बढ़े, यहां ठीक होने वालों से ज्यादा नए मरीज मिले

देश में कोरोना के मामलों में आई तेजी चिंता बढ़ा रही है। पिछले 24 घंटे …