रांची में मरीज की मौत के बाद डॉक्टरों ने उसके परिजन को पीटा, जूनियर डॉक्टरों ने कहा- अटेंडेंट ने की थी बदतमीजी

मृतक के परिजनों ने डॉक्टरों पर मारपीट का आरोप लगाते हुए इमरजेंसी गेट के सामने धरना दिया।

  • जूनियर डॉक्टरों ने काला बिल्ला लगाकर किया प्रदर्शन, रिम्स अधीक्षक से मांगी सुरक्षा
  • धनबाद का रहने वाला था 40 साल का मरीज, परिजन का इमरजेंसी गेट के सामने धरना

रिम्स अस्पताल में सोमवार की रात एक मरीज की मौत के बाद जमकर हंगामा हुआ। मृतक के परिजन ने डॉक्टरों पर मारपीट का आरोप लगाया तो जूनियर डॉक्टरों ने मृतक के परिजन पर बदतमीजी करने और कपड़े फाड़ने का आरोप लगाया। मंगलवार सुबह मृतक के परिजनों ने रिम्स इमरजेंसी गेट के सामने धरना दिया तो जूनियर डॉक्टरों ने काला बिल्ला लगाकर प्रदर्शन किया और रिम्स अधीक्षक से अपने लिए सुरक्षा की मांग की। इससे पहले जूनियर डॉक्टरों की ओर से बरियातू थाना में मृतक के परिजन के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के लिए आवेदन भी दिया। फिलहाल, मामला शांत हो गया है।

बरियातू थाना में दिए गए आवेदन में डॉक्टरों की ओर से कहा गया है कि रिम्स में धनबाद तिसरा के मरीज को भर्ती किया गया था। मरीज की हालत गंभीर थी। मरीज की स्थिति के बारे में परिजन को अच्छी तरह से बता दिया गया था। डॉक्टरों ने आवेदन में कहा है कि मरीज का इलाज अच्छे तरीके से हो रहा था। इसके लिए मरीज के बीमारी से संबंधित विभाग से सलाह भी ली गई थी। सोमवार रात करीब 9 बजे मरीज की मौत हो गई। इसके बाद मरीज के महिला परिजन ने एक महिला डॉक्टर का कपड़ा फाड़ दिया।

जूनियर डॉक्टरों ने बताया कि धनबाद के तिसरा निवासी 40 साल के प्रमोद सिंह नाम के मरीज को 12 अक्टूबर को रिम्स में भर्ती किया गया था। उनको हार्ट और किडनी की बीमारी थी। किडनी और कार्डियो से दिखाया जा चुका था। मरीज ऑपरेशन की स्थिति में नहीं है। धनबाद मेडिका से इलाज के बाद यहां लाया गया था। डायलिसिस चल रहा था। मरीज की हालत खराब थी। सीनियर डॉक्टरों से कहा था कि कोशिश कर रहे हैं। मरीज के परिजन को भी पता था कि हालत गंभीर थी। लेकिन जैसे ही उन्हें मौत की खबर मिली वे हंगामा करने लगे।

 

Check Also

चतरा में 5 लाख रुपए के इनामी उदेश गंझु ने किया आत्मसमर्पण, 8 मामलों में थी पुलिस को तलाश

  टीएसपीसी का सब जोनल कमांडर उदेश गंझु चतरा का रहने वाला है। उदेश गंझु …