रांची के रिम्स में मात्र ढाई किग्रा वजन वाली बच्ची की जटिल हार्ट सर्जरी, चार साल से लाइफ सेविंग ड्रग्स पर टिकी थी जिंदगी

रांची, 25 जनवरी रांची स्थित राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (रिम्स) के डॉक्टरों नेमात्र ढाई किलोग्राम वजन वाली बच्ची की सफल हार्ट सर्जरी की है। डॉक्टरों का कहना है कि बेहद कम वजन वाले शिशु की हार्ट सर्जरी का निर्णय चिकित्सा विज्ञान की ²ष्टि से अत्यंत जटिल था। चार साल की उम्र वाली इस बच्ची के दिल में सुराख था और जन्म के बाद से ही उसे लाइफ सेविंग ड्रग्स पर हॉस्पिटल में रखा गया था। पश्चिम बंगाल के पुरुलिया निवासी पार्वती मोदी की पुत्री के जन्म के बाद ही डॉक्टरों ने बताया कि उसके हृदय में छेद है।

 

इसी वजह से उसका वजन ढाई किलोग्राम से ऊपर नहीं बढ़ पा रहा था। उसे जमशेदपुर स्थित एक हॉस्पिटल में एडमिट रखा गया था। वहां के डॉक्टर बच्ची का वजन न बढ़ने की स्थिति में उसकी सर्जरी करने को तैयार नहीं थे। पिछले दिनों परिजन बच्ची को लेकर रिम्स के पेडियाट्रिक विभाग लेकर आये। इसके बाद उसे कार्डियो सर्जरी डिपार्टमेंट में रेफर किया गया। डॉक्टरों के पैनल ने बच्ची की तमाम रिपोटर्स देखने के बाद माना कि उसकी सर्जरी करने का फैसला लिया। हालांकि यह फैसला जोखिम भरा था, लेकिन उसकी जीवन रक्षा के लिए इसके अलावा कोई विकल्प नहीं थी। ऑपरेशन से पहले बच्ची के लिए प्रति मिनट 2 लीटर ऑक्सीजन की जरूरत पड़ रही थी।

कार्डियक डॉ. राकेश चौधरी के नेतृत्व में सीनियर रेजीडेंट डॉ संजय, जूनियर रेसिडेंट डॉ. कृतिका, डॉ. मुकेश, डॉ. नितेश, डॉ. खुशबू, डॉ. अमित, डॉ. अश्विनी, परफ्यूजनिस्ट अमित कुमार सिंह की टीम ने सोमवार को उसका ऑपरेशन किया। झारखंड के चिकित्सा संस्थानों के इतिहास में इतनी कम वजन के शिशु की सफल हार्ट सर्जरी का यह पहला मामला है। बच्ची की हालत में तेजी से सुधार हो रहा है। डॉक्टरों का कहना है कि उसे जल्द ही छुट्टी दे दी जायेगी।

Check Also

भारतीय कुश्ती संघ के कोषाध्यक्ष देशवाल पहुंचे रांची

रांची, 26 मई (हि.स.)। भारतीय कुश्ती संघ के कोषाध्यक्ष देशवाल और कुश्ती में पूर्व ओलंपियन …