रविवार और मंगलवार को भूलकर भी नहीं करना चाहिए गृहप्रवेश

अपना घर बनाने का सपना तो सभी का होता है। गृहनिर्माण की शुरुआत हो या फिर गृहप्रवेश करना हो ये बहुत ही शुभ काम माने जाते है। वास्तु शास्त्र के मुताबिक गृहनिर्माण करते समय पूजा का स्थान हमेशा उत्तर-पूर्व की ओर ही होना चाहिए। व्यक्ति को अपने घर का निर्माण करने से पहले हमेशा वास्तु विशेषज्ञ की सहायता लेनी चाहिए।

 

 
इन बातों का रखें विशेष ध्यान:
# हर कार्य का अपना एक अलग अलग मुहूर्त होता है जिसका ध्यान देना चाहिए। ये सब चंद्रमा के घटने-बढ़ने के अनुसार बदलते रहते हैं।
# किसी भी कार्य के लिए कौन सा नक्षत्र शुभ है या अशुभ यह भवन निर्माता व्यक्ति के जन्म नक्षत्र पर भी निर्भर करता है। इस तरह वह तिथी, योग, कर्म आदि का भी निर्धारण किया जा सकता है।
# शुभ मुहूर्त के लिए उस जगह का जहां आप निर्माण कार्य या निवास करना चाहते है की भौगोलिक स्थितियों को जानना जरूरी होता है।
# सोमवार, बुधवार, गुरुवार, शुक्रवार और शनिवार के दिन गृहप्रवेश करना बहुत ही शुभ माना गया है रविवार और मंगलवार का दिन भवन निर्माण और गृहप्रवेश के लिए शुभ नहीं हैं।
# किसी भी शुभ वार में यदि शुक्लपक्ष का समावेश हो यानी उस वार में शुक्लपक्ष पड़ रहा हो तो यह ओर भी शुभ मुहूर्त हो जाता है। शुक्लपक्ष में एक शुभ मुहूर्त माना जाता है।
# यदि आप गृहप्रवेश कर रहे हैं तो आपको वास्तु पूजा करवाना बहुत ही जरूरी होता है। इससे आपके गृह में शांति सम्पन्नता और संवृद्धि आती है और देवता भी प्रसन्न हो जाते है।

Check Also

25 जनवरी राशिफल: नया काम शुरू करने के लिए शुभ है आज का दिन, मिथुन, कन्या सहित इन राशियों के जातकों को मिलेगा आर्थिक लाभ

मेष राशि अनावश्यक के खर्चों पर नियंत्रण रखें। नए लोगों से मिलने का मौका मिलेगा। …