ये हैं बॉलीवुड इंडस्ट्री के सुपरस्टार पिताओं के फ्लॉप बेटे, आज जी रहे है गुमनामी वाली जिंदगी

हर रोज सैकड़ों लोग मुंबई सुपरस्टार बनने का सपना लेकर आते हैं लेकिन उनमें से कुछ ही लोगों के सपने पूरे हो पाते हैं| दरअसल बॉलीवुड इंडस्ट्री में अपनी एक अलग पहचान बना पाना थोड़ा मुश्किल काम जरूर हैं लेकिन नामुमकिन नहीं क्योंकि ऐसे बहुत सारे स्टार्स हैं जिन्होने इस इंडस्ट्री में बिना किसी पहचान के आए और अपनी मेहनत से वो आज बॉलीवुड के सुपरस्टार बन बैठे हैं| आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बहुत सारे लोगों का मानना हैं कि बॉलीवुड में पहचान तब आसानी से मिल जाती हैं जब आपके पिता एक सुपरस्टार रहे हो|

लेकिन इस बात की कोई गारंटी नहीं हैं कि यदि किसी के पिता सुपरस्टार हैं तो उसका बेटा भी एक दिन सुपरस्टार बन कर उभरेगा क्योंकि बॉलीवुड इंडस्ट्री में ऐसे कई उदाहरण हैं| जिनके पिता तो सुपरस्टार थे लेकिन उनके बेटे अपने पिता की तरह एक सुपरस्टार नहीं बन पाएँ| ऐसे में आज हम आपको ऐसे तीन एक्टर्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिनके पिता तो एक सुपरस्टार थे लेकिन वो खुद फ्लॉप साबित हुये और उन्हें बॉलीवुड इंडस्ट्री में कोई खास पहचान नहीं मिली|

(1) सुनील आनंद

सुनील आनंद सुपरस्टार देव आनंद के बेटे हैं और उन्होने अपने पिता के समान ही अपने करियर की शुरुआत एक एक्टर के रूप में की थी| दरअसल सुनील आनंद ने 1984 में फिल्म ‘आनंद और आनंद’ से बॉलीवुड में डेव्यू किया था| लेकिन उनकी पहली ही फिल्म फ्लॉप साबित हुयी| आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सुनील आनंद ने 2001 में आखिरी बार एक्टिंग फिल्म मास्टर में की थी लेकिन उनकी यह फिल्म भी बॉक्स-ऑफिस पर बुरी तरह पीट गयी थी| हालांकि उन्होने एक्टिंग करना छोड़ फिल्मों को डायरेक्ट करने का फैसला लिया और उन्होने कई फिल्मों को डायरेक्ट भी किया|

(2) करन कपूर

करन कपूर शशि कपूर के छोटे बेटे हैं और इन्होने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत 1984 में आयी फिल्म जुनून से की थी| लेकिन करन की पहली ही फिल्म फ्लॉप साबित हुयी| इसके बाद भी करन ने बॉलीवुड के कई फिल्मों में काम किया लेकिन उन्हें उनकी बाकी फिल्मों में सफलता नहीं मिल पायी| दरअसल करन कपूर का चेहरा अंग्रेज़ो की तरह लगता था जिसके कारण भारतीय दर्शकों ने उन्हें स्वीकार नहीं किया और वो अपने फिल्मी करियर में एक मुकाम हासिल नहीं कर पाये|

जब करन कपूर को फिल्मों में सफलता नहीं मिली तब वो ब्रिटेन चले गए और वहाँ जाकर उन्होने टीवी से संबन्धित बहुत सारे काम किए और उन्होने अपना करियर फोटोग्राफी में आजमाया क्योंकि उन्हें फोटोग्राफी करने का शौक था और उन्हें इसमें सफलता मिली| बता दें कि वो 25 सालों बाद भारत वापस लौटे और यहाँ आकर उन्होने अपने फोटोग्राफी से लोगों का दिल जीत लिया|

(3) कुणाल गोस्वामी

मनोज कुमार के बड़े बेटे कुणाल गोस्वामी हैं और उन्होने बॉलीवुड में 1981 में फिल्म क्रांति डेव्यू किया था| आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस फिल्म को उनके पिता मनोज कुमार ने ही डायरेक्ट किया था| क्रांति के बाद कुणाल गोस्वामी ने बॉलीवुड के फिल्मों में काम किया लेकिन उन्हें अपने पिता के समान सफलता नहीं मिली| इसके बाद उन्होने प्रोडक्शन के फील्ड में करियर आजमाना चाहा लेकिन बदकिस्मती से वो इस फील्ड में भी असफल रहे|

Check Also

वरुण-सारा की ‘कुली नंबर-1’ का ट्रेलर आते ही सोशल मीडिया पर वायरल होने लगे Meme

वरुण धवन (Varun Dhawan) और सारा अली खान (Sara Ali Khan) की मूवी ‘कुली नंबर-1’ …